S M L

जीएसटी को लेकर बॉलीवुड में पड़ी 'फूट'

बॉलीवुड स्टार्स ने जीएसटी पर अपनी राय जाहिर कर दी है

Updated On: Jul 03, 2017 12:18 AM IST

Sunita Pandey

0
जीएसटी को लेकर बॉलीवुड में पड़ी 'फूट'

देशभर में 1 जुलाई से लागू हुए GST यानी (गुड्स एंड सर्विस टैक्स) को लेकर पूरा बॉलीवुड दो धड़ों में बंटा नजर आ रहा है.

एक तरफ मुकेश भट्ट जैसे निर्माताओं का मानना है कि इससे फिल्म इंडस्ट्री की कमर टूट जाएगी और छोटा प्रोड्यूसर खत्म ही हो जाएगा, तो दूसरी तरफ विपुल शाह जैसे फिल्म मेकर्स इसे एक अच्छा कदम मानते हुए कहते हैं कि, "फिल्में बड़ी हो या छोटी, GST का असर तो सब पर पड़ेगा.

इंडस्ट्री के अलावा दूसरे बिजनेस के लिए भी ये अच्छा कदम है." कमल हासन जैसे अभिनेता इसे पहले ही इंडस्ट्री को बर्बाद करने वाला कदम बता चुके हैं.

इस कानून को लेकर बॉलीवुड से जुड़े कई और लोगों ने अपनी प्रतिक्रियाएं दी हैं.

अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान से लेकर आयुष्मान खुराना तक कई स्टार्स ने ट्विटर पर जीएसटी को लेकर अपनी-अपनी प्रतिक्रियाएं साझा की हैं.

GST को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में अभिनेता टाइगर श्रॉफ कहते हैं कि, "GST का फिल्म इंडस्ट्री पर असर तो पड़ेगा, लेकिन उन्हें विश्वास है सिनेप्रेमी फिर भी फिल्म जरूर देखेंगे. बस इसके लिए बॉलीवुड को भी अच्छी फिल्मों पर ध्यान देना होगा."

अभिनेता आयुष्मान खुराना ने GST से इंडस्ट्री को नुकसान होने की खबर को खारिज करते हुए ट्विटर पर लिखा है कि "जीएसटी बिल एक बहादुर क्रांतिकारी कदम है.. 1992 के बाद से सबसे महत्वपूर्ण आर्थिक सुधार..!"

फिल्म डायरेक्टर सुनील दर्शन ने भी जीएसटी का स्वागत करते हुए कहा है कि, "केंद्र सरकार की तरफ से ये अच्छा कदम है."

इस बारे में सबसे तीखी प्रतिक्रया कमल हासन ने दी थी. उनके मुताबिक, "नोटबंदी काले धन को खत्म करने के लिए लागू की गई थी, लेकिन जीएसटी हमें दो कदम पीछे ही ले जाएगा.

कमल हासन का मानना है कि इसका असर रीजनल फिल्मों के मार्केट पर पड़ सकता है.

बोनी कपूर ने इस मुद्दे पर कमल हासन के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि, 'GST की इस भारी दर से सभी निर्माता प्रभावित होंगे,."

इस मुद्दे पर पूछे जाने पर अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने कहना है कि, 'यह GST वाला मामला बहुत टेक्निकल, मुझे तो यह भी नहीं पता होता मेरा कितना टैक्स जाता है."

GST को लेकर ज्यादातर लोगों का यही मानना है कि इससे पूरी इंडस्ट्री प्रभावित होगी, लेकिन सरकार समर्थक माने जाने फिल्ममेकर्स इस पर कोई प्रतिक्रया देने से बच रहे हैं.

वहीं बीजेपी के सांसद परेश रावल ने इसे ऐतिहासिक दिन मानते हुए GST के समर्थन में ट्वीट किया और ट्रोलिंग के शिकार हो गए.

GST के विरोधियों का कहना है कि, GST से पहले से ही दर्शकों की किल्लत झेल रहे सिंगल स्क्रीन वाले थियेटरों के वजूद पर ही संकट आ जाएगा.

बड़ी बजट की फ़िल्में बननी बंद हो जाएगी, लेकिन इंडस्ट्री में काले धन की पारदर्शिता से होने वाले फायदे की बात को नजरअंदाज कर रहे हैं.

वहीं सिनेमा जानकारों की मानें तो रीजनल सिनेमा पर इसका असर पड़ सकता है, क्योंकि महाराष्ट्र जैसे कई राज्यों में रीजनल फिल्मों से एंटरटेनमेंट टैक्स नहीं लिया जाता था, लेकिन अब GST लागू होने के बाद ये सभी फिल्म टैक्स के दायरे में आ गई हैं.

ऐसे में जीएसटी की इस नई दरों से सिंगल स्क्रीन सिनेमाहॉल दबाव में हैं, जिससे ये कयास लगाए जा रहे हैं कि जीएसटी के कारण कुछ सिंगल स्क्रीन बंद भी हो सकते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi