S M L

पहलाज निहलानी की 'विदाई' से फिल्म इंडस्ट्री में खुशी की लहर

अपने तानाशाही फैसलों से निहलानी ने हर किसी को अपना दुश्मन बना लिया था

Updated On: Aug 11, 2017 09:28 PM IST

Bharti Dubey

0
पहलाज निहलानी की 'विदाई' से फिल्म इंडस्ट्री में खुशी की लहर

पहलाज निहलानी की विदाई हो गई है. जैसे ही ये खबर आज शाम को लोगों को मिली, खासकर फिल्म जगत में खुशी की लहर दौड़ गई. उनकी जगह पर प्रसून जोशी को सेंसर बोर्ड का नया चीफ बनाया गया है.

सेंसर बोर्ड में अब विद्या बालन समेत 12 नए लोगों की एंट्री हुई है. इनमें विवेक अग्निहोत्री भी शामिल हैं. विवेक अग्निहोत्री ने फर्स्टपोस्ट से बात करते हुए कहा कि सूचना और प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी और प्रसून जोशी की वजह से बोर्ड के मेंबर बने हैं. स्मृति ईरानी ने झट से निर्णय लेते हुए पहलाज निहलानी को उनका टर्म पूरा होने से पहले ही हटा दिया. ये एक बोल्ड निर्णय है.

ये हैं नए सदस्य, जिसमें विद्या बालन भी शामिल हैं

ये हैं नए सदस्य, जिसमें विद्या बालन भी शामिल हैं

पहलाज निहलानी की विदाई के ताबूत में आखिरी कील बनी IFTDA की वो प्रेस कॉन्फ्रेंस जो 2 अगस्त को मुंबई में हुई. ये पीसी इसलिए रखी गई थी क्योंकि सेंसर बोर्ड के अधिकारियों ने नवाज की फिल्म बाबूमोशय बंदूकबाज को सेंसर बोर्ड ने 48 कट के साथ ए सर्टिफिकेट देने का फरमान सुनाया था.

2 अगस्त को हुई थी IFTDA की प्रेस कॉन्फ्रेंस

2 अगस्त को हुई थी IFTDA की प्रेस कॉन्फ्रेंस

जिसके बाद करीब-करीब सभी बड़े फिल्ममेकर्स ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया था.  IFTDA के महासचिव अश्विनी चौधरी ने फर्स्टपोस्ट से खास बातचीत करते हुए पहलाज निहलानी को हटाने के स्वागत किया है. उनका कहना है कि पहलान के आने के बाद से इंडस्ट्री के साथ अन्याय हो रहा था.

लंबे वक्स से उन्होंने सेंसर बोर्ड को अपनी बपौती बना लिया था और अपनी खुद के नियम उन्होंने थोपने शुरू कर दिए थे. अब जरूरत इस बात की है कि पॉजिटिव सोच रखने वाले सेंसर बोर्ड को फिर से वापस लाया जाए.

इलिप्सिस एंटरटेनमेंट के मैनेजिंग पार्टनर तनुज गर्ग का भी मानना है कि सेंसर बोर्ड की आत्मा को फिर से जगाने की जरूरत है ताकि फिल्ममेकर्स का भरोसा उसमें फिर से लौट सके.

एक्टर चंद्रप्रकाश द्विवेदी का मानना है कि पहलाज निहलानी का जाना एक अच्छी शुरूआत है.

अश्विनी का कहना है कि पहलाज के मुकाबले प्रसून जोशी के आने से फिल्म इंडस्ट्री के फिर से अच्छे दिन आ सकेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi