S M L

जिया खान सुसाइड केस: 6 साल बाद सूरज पंचोली ने तोड़ी चुप्पी, सोशल मीडिया पर लिख डाला लंबा लेख

6 साल पहले बॉलीवुड एक्ट्रेस जिया खान ने खुदकुशी की थी जिसके बाद अभिनेता सूरज पंचोली पर इसके आरोप लगे थे

Updated On: Nov 10, 2018 11:02 AM IST

Arbind Verma

0
जिया खान सुसाइड केस: 6 साल बाद सूरज पंचोली ने तोड़ी चुप्पी, सोशल मीडिया पर लिख डाला लंबा लेख
Loading...

6 साल पहले बॉलीवुड एक्ट्रेस जिया खान ने खुदकुशी की थी जिसके बाद अभिनेता सूरज पंचोली पर इसके आरोप लगे थे लेकिन इतने साल के बाद सूरज ने इन आरोपों पर अपनी चुप्पी तोड़ी है. सूरज ने सोशल मीडिया पर एक तस्वीर शेयर करते हुए एक लंबा लेख लिखा है, जिसमें उन्होंने केस के बारे में भी जिक्र किया है.

सूरज ने लिखा 6 साल बाद लेख

6 साल पहले अभिनेत्री जिया खान ने खुदकुशी कर ली थी जिसके बाद एक सुसाइड नोट भी मिला था जिसके बाद सूरज को इस मामले मं आरोपी माना गया. लेकिन 6 साल से चल रहे कोर्ट केस का आखिरकार समापन हो गया. सूरज ने सोशल मीडिया पर एक लंबा लेख लिखते हुए कहा कि, ‘मैं 6 साल बाद इस पर लिख रहा हूं क्योंकि पिछले 6 साल से चल रहा कोर्ट केस अब खत्म हो गया है. मैं आपसे कुछ ऐसी बातें साझा करने जा रहा हूं जो पिछले कई साल से मेरे दिल में थे. मुझे नहीं पता कि शुरुआत कहां से करनी चाहिए. अगर किसी विषय में बहुत सारी फीलिंग, बहुत सारे लोग शामिल हों तो अपने जज्बातों को बयां करना मुश्किल होता है. मैं उन सभी लोगों का धन्यवाद करना चाहता हूं जो मेरे साथ हमेशा चट्टान बनकर खड़े रहे. मैं 6 साल से पूर सम्मान और संयम के साथ केस का सामना कर रहा हूं. साथ ही इस केस का ट्रायल खत्म होने का इंतजार कर रहा हूं. इस बीच मुझ पर मर्डर और क्रिमिनल जैसे आरोप लगे. मुझे झूठा कहा गया, इस दौरान सभी लोग मेरे खिलाफ हो गए. मैं अपने बारे में कई तरह की खबरें पढ़ता था. कई बार मैं इन खबरों को इग्नोर करता था लेकिन मेरे साथ जुड़े मेरे अपनों को ये सभी बातें अचछी नहीं लगती थीं. उन्हें दु:ख पहुंचता था. मैं इसके लिए लोगों को दोषी नहीं ठहराता क्योंकि उनके सामने मेरी ऐसी ही छवि गढ़ी गई थी.’

View this post on Instagram

Today I complete 28 years of my life. I want to take up this moment to share a few thoughts that have been in my heart for a while. I wanted to wait to speak out until the case ended, but it’s taken longer than expected. I don’t know where to start from. It is difficult to express some feelings when so many people, so many emotions are involved. First, I want to thank those who have stood by me like a pillar of strength. It has been a long journey that started when I was still trying to understand life. I have been fighting the case in court for the last 6 years, with patience and respect, waiting for the trial to be completed. In this process I have been called a murderer, a criminal, an abuser and so much worse. I read these things about me almost every single day. And my heartfelt effort has always been to be strong, respectful and ignore it. But they still fill my and my loved ones’ heart with so much sadness. I don’t blame the people who call me names, because that’s how i have been portrayed in public, but i’m not the monster that has been portrayed in headlines. I know how easy it is to think the worst of someone and accuse them but it is exceptionally hard to prove myself innocent as there’s a procedure that we need to follow. A procedure that has taken long enough that i have been made to feel guilty without even being given a fair chance to prove my innocence. There have been accusations and assumptions but there has been no validation. But, this is not about what others say. This is about how I feel. For as long as I can remember, my dream has always been to make my parents proud. I have always tried to be a good son to them. In the last 6 years, I’ve tried harder everyday to achieve this dream and to be positive. So today, I am praying with my heart that our family can move forward, that the trial can come to a fair end and that I can give back all the love, support and strength I have received from so many of you. Thank you to all of you who constantly send positivity my way. You may not know it, but every single one of your prayers has helped.

A post shared by Sooraj Pancholi (@soorajpancholi) on

मैं नहीं हूं कोई शैतान

सूरज पंचोली ने आगे कहा कि, ‘मैं कोई शैतान नहीं हूं. किसी के बारे में इतना बुरा बोलना आसान होता है, लेकिन इन सब में आपको निर्दोष साबित करना बहुत ही मुश्किल होता है. जब हम खुद को निर्दोष साबित करने में जुटे होते हैं तो आपको एक तय प्रक्रिया का पालन करना पड़ता है. जहां तक मुझे याद है कि मैंने हमेशा यही सपना देखा कि मैं अपने माता-पिता का नाम रौशन कर सकूं. मैं पिछले 6 साल से इसके लिए कड़ी मेहनत कर रहा हूं.’

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi