S M L

बिग बॉस 10: सेलीब्रेटी नहीं, वही पुरानी नीतिभा हूं

मैं अब एक सेलिब्रिटी हो गई हूं या मशहूर हो गई हूं

Runa Ashish Updated On: Jan 16, 2017 07:33 AM IST

0
बिग बॉस 10: सेलीब्रेटी नहीं, वही पुरानी नीतिभा हूं

बिग बॉस के घर में एक इंडियावाले की टीम की सदस्या ऐसी भी थी जिसकी अदाएं देख कर और खूबसूरती देख कर कोई भी सोच में पड़ जाता था कि कहीं ये सेलिब्रिटी तो नहीं है. हम बात कर रहे हैं नीतिभा कौल की. जो घर में शांत रहने वाले सदस्यों में से गिनी जा सकती थीं. जिनका गुस्सा स्वामी ओम पर ही सबसे ज्यादा निकलता था. नीतिभा इस हफ्ते घर से निकल चुकी हैं, फ़र्स्टपोस्ट हिंदी संवाददाता रूना आशीष ने नीतिभा से बातचीत की.

फ़र्स्टपोस्ट हिंदी- बिग बॉस देख कर अब से समय में समझ में नहीं आ रहा था कि कौन घर से बेघर होने वाला है, सभी अच्छा खेल रहे थे?

जवाब- हां, इस स्टेज पर सभी अच्छा खेल रहे है लेकिन बाहर कोई भी हो सकता था. वैसे मुझे लगा था कि घर में ये मेरे लिए आखरी हफ्ता हो सकता है. हालांकि मुझे ये भी लग रहा था कि घर मे मेरा कॉन्ट्रीब्यूशन मोना ले से तो ज़्यादा ही रहा है. फिर मुझे लगा कि मोना के अपने भोजपुरी फैन्स हैं और फिर मनु मनवीर के फैन्स भी तो मोना को सपोर्ट कर रहे होंगे ना. लेकिन ये पूरी बात आंकड़ों पर आ कर रुक जाती है. सबकुछ आंकड़े ही निर्धारित करते हैं. मुझे अपने लोगों पर भी भरोसा था कि मेरे वोट्स भी अच्छे हो सकते हैं.

लेकिन एक बार तो सलमान ने ही कहा था कि आपको जीरो वोट मिले हैं. वो तो एक मजाक था जो सलमान मेरे से कर रहे थे उस दिन वाइल्ड कार्ड एंट्री थी तो कोई भी एविक्शन नहीं था.

Nitibha Kaul (2)

यह भी पढ़ें: कॉल सेंटर टास्क ने कराई बानी और लोपा में कैटफाइट

फ़र्स्टपोस्ट हिंदी- जब आप बिग बॉस में घर के अंदर गई थीं और अब जब 90 दिनों बाद बाहर आई हैं तो क्या आपके दोस्तों और घरवालों को बदली हुई नीतिभा मिलेंगी?

जवाब- बिल्कुल नहीं. कोई बदलाव नहीं आया है. मैं तो 90 दिन पहले घर में गई 90 दिन बाद घर से निकल कर इस दुनिया में आ गई वैसे भी बाहर जो कुछ दुनिया में हुआ वो तो मुझे मालूम ही नहीं है ना.

लोग कहते हैं कि मैं अब एक सेलिब्रिटी हो गई हूं या मशहूर हो गई हूं. मेरे लिए तो मैं वही नीतिभा हूं ना. मुझ में कुछ नई सीख जरूर आ गई है लेकिन घरवालों, दोस्तों को कोई बदलाव नहीं दिखेगा. ये सीखें हैं कि कैसे धीरज रखें, लोगों से और परेशानी से निपटें या आलस ना करें. हर टास्क को अच्छे से निभाएं. नए दोस्त कैसे बनाएं. वैसे बिग बॉस का घर तो जीवन बदलने के लिए काफी है. इतना प्यार भी जो मिला है उसके लिए खुश हूं और धन्यवाद भी देती हूं.

फ़र्स्टपोस्ट हिंदी- अपने और मनवीर के बारे में कुछ बताएं?

जवाब- मेरी और मनवीर की दोस्ती लव और हेट वाली थी, मेरी और लड़कों की दोस्ती में ये ही होता है. हम आपस में खूब लड़ते हैं. पता नहीं ऐसा क्यों है. शायद में गर्ल्स स्कूल में पढ़ी हूं इसलिए. मनवीर कभी कभी बड़ा फ्लर्ट करते हैं. कभी कोई ऐसी स्वीट सी बात कह जाते हैं या कर जाते हैं कभी बड़ी ही फनी बातें कर जाते हैं.. कभी कभी हम लड़ भी लेते थे. मेरी तरफ़ से तो सीधी साधी दोस्ती ही थी.

फ़र्स्टपोस्ट हिंदी- मनु के बारे में क्या कहेंगी आप?

जवाब- मनु जब अपनी मां के देहांत के बाद घर में लौटे तब से वो बहुत ही ज्यादा इधर की बात उधर करने वाले हो गए हैं.

फ़र्स्टपोस्ट हिंदी- मनु तो आपके लिए भी मनवीर कहते थे कि नीतिभा तो इस घर से जाने के बाद उन्हें पूछेंगी भी नहीं. मनवीर को नीतिभा से बच कर चलना चाहिए?

जवाब- मुझे लगता है कि ये मनु की आदत है. उसका स्वभाव ही ऐसा है. इधर की बातें उधर करता रहता है. वो गेम के लिए गलत नहीं है क्योंकि वो उसका स्वभाव है और वो अपने स्वभाव को लेकर सच्चा है. तो हो सकता है कि आप जो कह रह हैं उस पर भरोसा मैं कर सकती हूं.

अब उस समय मनु के दिमाग में क्या चल रहा था ये तो मैं नहीं कह सकती हूं क्योंकि मनु भी मुझसे बहुत ही प्यार से पेश आता था. लेकिन हां जब आप किसी के साथ ज्यादा रहते हैं तो आप भी उनके विचारों से प्रभावित हो जाते हैं तो मनवीर के साथ भी हुआ होगा.

यह भी पढ़ें: सलमान फिर बने गोविंदा के 'बिग बॉस'

Nitibha Kaul (3)

फ़र्स्टपोस्ट हिंदी- वो और मनु कितना साथ में रहते हैं. अगर आपको किसी ने ये हक दे दिया कि नीतिभा आप किन दो लोगों को वाइल्ड कार्ड के जरिए घर में लाना चाहेंगी तो कौन होंगे वो दो नाम?

जवाब- मैं कहूंगी आकांक्षा क्योंकि वो बहुत जल्दी घर से बेघर हो गईं. वो बहुत ही स्ट्रॉन्ग महिला हैं तो उन्हें घर मे आने का मौका मिलना चाहिए मनु, मनवीर और मैं भी इस बारे में बात कर चुके है वो मेरी अच्छा दोस्त भी बन गईं थीं.

आकांक्षा घर में होती तो बहुत कुछ और भी कर पातीं. और दूसरा नाम होगा गौरवजी. क्योंकि अभी तो वो अपने रंग मे आना शुरु ही हुए थे. वो अच्छा कर रहे थे.

लोपा एक ब्यूटी क्वीन हैं और ऐसे में जिस तरह उनकी लड़ाई घर में बोनी के साथ हुई है वो अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उनकी छवि को ख़राब कर सकता है. उन्हें बहुत नुकसान पहुंचेगा क्योंकि वो ना सिर्फ मिस इंडिया ऑर्गेनाइजेशन की नुमाइंगदी कर कही हैं बल्कि वो मिस युनाइटेड कॉन्टिनेंटल ऑर्गेनाइजेशन.

वैसे भी ब्यूटी पैजेंट के विनर से ऐसी बिल्कुल भी आशा नहीं होती है.जिस तरह की बातें उन्होंने की है वो वैसे सोच कर नहीं कर रही थी वो बस उस समय ये कर गईं. वो भावनाओं में बह गईं.

फ़र्स्टपोस्ट हिंदी- आप को कभी ये नहीं लगा कि मोना ने तो कभी भी कोई टास्क उत्साह से नहीं किया जबकि आप उत्साह से करती रहीं हैं. ये देखने में आया कि मोना को लगा कि आप उनकी और मनवीर की दोस्ती के बीच आ गईं?

जवाब- मुझे याद है और मैं बिल्कुल भी गलत नहीं हूं, मुझे मोना बहुत पसंद भी हैं. मुझे कभी नहीं लगा कि मोना को मुझसे कोई भी परेशानी रही है. अगर होगी भी तो मुझसे नहीं कहा है तो चलिए मान कर चलती हूं कि वो मुझसे किसी भी वजह से खफा नहीं हैं.

हो सकता है इन तीनों मनु मनवीर और मोना ने कभी आपस में बात की भी होगी. लेकिन मुझे लगता है कि मोना टास्क में रुचि नहीं लेती थीं कैप्टन्सी में रुचि नहीं लेती थी. उन्होंने ये भी कहा था कि बिग बॉस जीतना उनके उद्देश्य में नहीं है.

उनको बस सलमानजी के सामने आना था. शो का अनुभव लेना था. बस सलमानजी से बातें करनी थीं और उसके हिसाब से वो ये कर चुकी हैं. तो ठीक है ना उन्हें जो चहिए था वो मिल गया है, मुझे तो लगता है कि मैं ज्यादा काबिल हूं. लेकिन दर्शक हैं ना तो मुझे लगता है कि ये सब दर्शकों पर ही निर्भर करता है.

फ़र्स्टपोस्ट हिंदी- अब क्या करने वाली हैं?

मैं सबसे पहले अपने घरवालों से मिलूंगी, फिर अपने दोस्तों से मिलूंगी और फिर सबके साथ बैठ कर बातें करूंगी. जानूंगी कि तीन महीने में उनके साथ क्या कुछ हुआ है और बैठ कर बिग बॉस देखूंगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi