S M L

अलग-अलग किरदारों में खूबसूरत एक्सपेरिमेंट कर रही हैं आलिया भट्ट

आलिया बेहतर फिल्मों के साथ बेहतर होती जा रही हैं.

Seema Sinha Updated On: Mar 09, 2017 09:03 AM IST

0
अलग-अलग किरदारों में खूबसूरत एक्सपेरिमेंट कर रही हैं आलिया भट्ट

आलिया भट्ट हमेशा अपने दर्शकों को चौंकाती हैं. उन्हें कभी निराश नहीं करती हैं. 2016 में इस युवा अभिनेत्री ने अपने शानदार अभिनय से कई अवॉर्ड जीते. 'उड़ता पंजाब' और 'डियर ज़िंदगी' फिल्मों के लिए उनकी खूब तारीफ हुई. और अब आलिया भट्ट की एंटरटेनर फिल्म 'बदरीनाथ की दुल्हनिया' रिलीज के लिए तैयार है.

ये 'हम्प्टी शर्मा की दुल्हनिया' का ही अगला संस्करण है. इस फिल्म में वो वरुण धवन के साथ आ रही हैं. वरुण के साथ आलिया की ये तीसरी फिल्म है. दोनों ही कलाकार फिल्मी दुनिया से ताल्लुक रखते हैं. इसीलिए दोनों के बीच की केमिस्ट्री स्क्रीन पर भी दिखती है. दोनों के खयालात एक से मालूम होते हैं.

'वरुण से सीखती हूं कॉमेडी'

हालांकि आलिया भट्ट कहती हैं कि 'कई बार वरुण की कॉमेडी मेरी समझ में नहीं आती. मुझे कॉमेडी पसंद है. लेकिन मुझे ये नहीं पता कि इसे कैसे पेश किया जाए, खास तौर से जिस तरह वरुण कॉमेडी रोल करता है. इसीलिए उसके कॉमेडी वाले रोल को देखकर मैं सीखने की कोशिश करती हूं.'

आलिया भट्ट के पास इस वक्त बड़े बैनर्स की कई फिल्में हैं. इनमें से ज्यादातर फिल्में बॉलीवुड के बड़े सितारों के साथ हैं. 'बदरीनाथ की दुल्हनिया' की रिलीज के बाद आलिया भट्ट, अयान मुखर्जी की फिल्म 'ड्रैगन' पर काम करना शुरू करेंगी.

alia and varun

'ड्रैगन' के बारे में कहा जा रहा है कि ये सुपरनेचुरल साइंस फिक्शन फिल्म होगी. साथ ही इसमें आज के दौर के रोमांस का पुट भी होगा. इस फिल्म में आलिया के साथी कलाकार हैं रणबीर कपूर.

इसके बाद इस साल के आखिर में आलिया भट्ट रणवीर सिंह के साथ जोया अख्तर की फिल्म 'गली ब्वॉयज' में काम करेंगी. आलिया हंसते हुए कहती हैं कि अयान और जोया ने उन्हें दो हिस्सों में बांट लिया है. इसलिए उनके साथ डेट्स की दिक्कत नहीं होगी.

क्या किरदारों का चुनाव कोई स्ट्रेटजी है?

तो क्या आलिया जान-बूझकर अलग-अलग तरह की फिल्में कर रही हैं? इस सवाल के जवाब में आलिया कहती हैं कि ये दर्शकों को ध्यान में रखकर नहीं हो रहा. वो खुद ये प्रयोग कर रही हैं. क्योंकि ऐसा करना उन्हें पसंद है. हालांकि वो साफ करती हैं कि ये प्रयोग किसी रणनीति का हिस्सा नहीं.

आलिया कहती हैं कि वो बड़ी जल्दी बोर हो जाती हैं. वो कहती हैं कि वो कोई गंभीर फिल्म नहीं करना चाहतीं. मगर कोई बायोपिक मिलेगी तो वो जरूर करेंगी क्योंकि उसमें उनके कहने के लिए एक नई कहानी होगी. वो एक अच्छे कॉमिक रोल के इंतजार में भी हैं. वो इसे अपनी जरूरतें पूरा करने की कोशिश मानती हैं.

किसी कलाकार की पहली फिल्म उस कलाकार को चुनती है. फिर वो कलाकार खुद अपनी अगली फिल्में चुनता है.

आलिया का कहना है कि 'उड़ता पंजाब' में उनके अभिनय की तारीफ होने के बाद ही उन्हें अलग-अलग रोल करने का हौसला मिला. अगर लोगों ने तारीफ नहीं की होती, तो शायद वो अपने किरदारों को लेकर इतने प्रयोग नहीं करतीं.

हालांकि वो कहती हैं कि अलग रोल करना इतना बड़ा जोखिम क्यों माना जाता है? किसी किरदार को लोग पसंद करते हैं, तो आपको राहत मिलती है. खुद आलिया को लगता है कि इससे उनका हौसला बढ़ता है. आगे चलकर वो ऐसे और रोल करना चाहेंगी.

'मैं पहले वाली ही आलिया हूं'

अपनी हर फिल्म के साथ आलिया एक नई मंजिल तक पहुंचती जा रही हैं. तो क्या उनके ऊपर और फिल्में साइन करने का दबाव है? आलिया कहती हैं कि उन्हें नहीं पता कि दर्शक क्या चाहते हैं. उनसे क्या उम्मीद करते हैं. वो तो वही आलिया हैं, जो पहले थीं. वो बस अपना काम कर रही हैं.

alia bhatt1

आलिया के मुताबिक, उनकी कामयाबी उनकी कोशिशों का नतीजा हैं. वो किसी के दबाव में कोई रोल नहीं करतीं. वो सिर्फ एक दबाव में काम करती हैं. वो दबाव खुद को चुनौती देने का होता है. आलिया का कहना है कि वो कोई रोल सिर्फ इसलिए नहीं करतीं कि पिछला रोल लोगों को पसंद नहीं आया. वो सिर्फ गंभीर फिल्में नहीं करना चाहतीं.

आलिया कहती हैं कि वो लंबे वक्त से कोई मनोरंजन फिल्म नहीं कर रही थी. इसीलिए उन्होंने बदरीनाथ की दुल्हनिया फिल्म का रोल करना मंजूर किया. जिसमें वो डांस और मौज मस्ती करती नजर आएंगी. हालांकि वो ये नहीं मानतीं कि 'उड़ता पंजाब' जैसी गंभीर फिल्म के बाद उन्हें हल्के-फुल्के रोल की जरूरत थी. बस वो अलग-अलग फिल्में करना चाहती हैं.

'कोई साथ रहे, जो बताए कि मैं अच्छी नहीं हूं'

फिलहाल उनकी तमन्ना 'दंगल' फिल्म के निर्देशक नीतेश तिवारी के साथ फिल्म करने की है. वो 'टू स्टेट्स' के निर्देशक अभिषेक वर्मन के साथ भी फिल्म करना चाहती हैं. आलिया कहती हैं कि मैं उनकी आवाज अपने सिर में गूंजते हुए महसूस करना चाहती हूं. वो हमेशा बेहतर करने के लिए दबाव बनाते हैं. आलिया कहती हैं कि मुझे कोई बताता रहे कि मैं अच्छी नहीं हूं. इस काम में अभिषेक माहिर हैं.

बदरीनाथ हिंदी बोलने वाले इलाके से जुड़ी कहानी है. लेकिन ये फिल्म करन जौहर या धर्मा प्रोडक्शन्स की दूसरी फिल्मों जैसी नहीं. फिल्म की कहानी ग्रामीण इलाके की है.

varun dhavan

फिल्म के हीरो वरुण धवन कहते हैं कि ये फिल्म पूरी तरह से भारतीय परिवार से ताल्लुक रखती है. उनका दावा है कि करण की 2001 की फिल्म 'कभी खुशी कभी गम' ये बाद ये दूसरी पारिवारिक फिल्म है.

वरुण कहते हैं कि उनका फिल्म के निर्देशक से कई मुद्दों पर मतभेद हुआ. उनमें और निर्देशक शशांक में खूब बहस भी हुई. लेकिन वरुण एक अच्छे छात्र की तरह अपने हर निर्देशक से ऐसे ही बहस करते हैं, ताकि अपनी समझ बेहतर कर सकें. वो कहते हैं कि फिल्म की हीरोइन की भावनाओं के साथ उन्होंने काफी हद तक तालमेल बैठा लिया.

पिछली बार से अलग है इस बार की दुल्हनियां 

आलिया कहती हैं कि फिल्म में उनका किरदार यानी वैदेही बहुत महत्वाकांक्षी लड़की है. जो खुद को हमेशा सही मानती है. वो सिर्फ दुल्हन नहीं बनना चाहती, बल्कि जिंदगी में और भी मुकाम हासिल करना चाहती है. वरुण ऐसे अभिनेता हैं जो खूब सवाल करते हैं. लंबे वक्त बाद वो एक मुश्किल किरदार निभा रहे हैं.

निर्देशक शशांक भी अपने फिल्म के किरदारों को उभारकर सामने लाना पसंद करते हैं. वो शूटिंग के दौरान कहानी में, किसी के रोल में कुछ नया जोड़ सकते हैं. कुछ बातें हटा भी सकते हैं.

आलिया कहती हैं कि वो इस बार एक मैच्योर किरदार निभा रही हैं. वो कहती हैं कि इस बार उनका रोल हंप्टी शर्मा की काव्या जैसा नहीं है. काव्या का सपना एक डिजाइनर लहंगा पहनने और शादी करने का था. उसका कोई और ख्वाब नहीं था. वैदेही महिलावादी है. वो आगे की सोचती है. जब लोग उसे हल्के में लेते हैं तो वो इसे बिल्कुल पसंद नहीं करती.

अगली फिल्मों के लिए करनी होगी जबरदस्त तैयारी

आलिया अपनी साइंस फिक्शन फिल्म 'ड्रैगन' को लेकर भी काफी उत्साहित है. क्योंकि इस फिल्म में उन्हें अमिताभ बच्चन के साथ काम करने का मौका मिल रहा है. वो उम्मीद जता रही हैं कि फिल्म के कुछ सीन में दोनों को साथ काम करने का मौका मिलेगा. 'ड्रैगन' की शूटिंग, रणबीर कपूर के संजय दत्त की बायोपिक का काम खत्म करने के बाद शुरू होगी.

आलिया बताती हैं कि 'ड्रैगन' की शूटिंग के लिए जबरदस्त तैयारी करनी होगी. इसके लिए कलाकारों को भी काफी तैयारी करनी होगी क्योंकि वो एक नई और अलग तरह की दुनिया की जिंदगी जीने का रोल करेंगे. हालांकि उन्हें कोई नई जुबान सीखने की जरूरत नहीं होगी.

अयान ने बताया है कि फिल्म में सिर्फ किरदार होंगे. कोई आलिया या रणबीर कपूर नहीं. ये कोई आम सुपरहीरो टाइप की फिल्म नहीं है, जिसमें रणबीर कपूर लाल अंडरवियर पहने दिखाई दें. ये पौराणिक साइंस-फिक्शन फिल्म है. जिसमें एक्शन की भरमार होगी. आलिया कहती हैं कि उन्हें उम्मीद है कि उनका कोई एक्शन सीन नहीं होगा. उन्हें मार-धाड़ नहीं करनी होगी.

alia bhatt2

रणबीर और रणवीर के साथ दिखेंगी आलिया

जोया अख्तर की फिल्म 'गली ब्वॉयज' में भी आलिया का रोल है. इसमें वो एकदम से अनाड़ी मुंबईया किरदार में दिखेंगी. जिसमें उनके हीरो हैं रणवीर सिंह. रणबीर और रणवीर के साथ काम करने का मौका पाकर आलिया बेहद उत्साहित हैं. क्योंकि दोनों की पर्सनालिटी एकदम अलग है.

वो कहती हैं कि उन्हें दोनों से बहुत घुलने-मिलने का मौका नहीं मिला, मगर उन्हें रणवीर की एनर्जी बहुत लुभाती है. वो हमेशा साथी कलाकारों के समर्थन की बात करते हैं. वो हमेशा अपने किरदार में रंगे नजर आते हैं. आलिया को लगता है कि रणवीर के साथ काम करने का तजुर्बा बेहद दिलचस्प होगा.

आलिया ने तय किया है कि 'बदरीनाथ की दुल्हनिया' की रिलीज के बाद वो पियानो और कत्थक सीखेंगी. साथ ही वो 'ड्रैगन' फिल्म की शूटिंग शुरू होने से पहले खाना बनाना भी सीखना चाहती हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
कोई तो जूनून चाहिए जिंदगी के वास्ते

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi