विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

क्यों खास है अरविंद केजरीवाल की राजनीति पर बनी डॉक्युमेंट्री

पहलाज निलहानी का कहना था कि इस फिल्म की रिलीज के लिए प्रधानमंत्री से एनओसी लिखवाकर लाई जाए

Animesh Mukharjee Animesh Mukharjee Updated On: Oct 28, 2017 04:15 PM IST

0
क्यों खास है अरविंद केजरीवाल की राजनीति पर बनी डॉक्युमेंट्री

आनंद गांधी को एक बार हिंदी सिनेमा का अरविंद केजरीवाल कहा गया था. वो कहते हैं अगर कोई फिल्म विचार के स्तर पर कुछ नया नहीं दे सकती तो वो उनके लिए बेकार है. आनंद अपनी फिल्म ‘शिप ऑफ थीसियस’ से दुनिया भर में काफी तारीफ बटोर चुके हैं. अब आनंद बतौर निर्माता अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के गठन पर बनी डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘एन इनसिग्निफिकेंट मैन’ लेकर आ रहे हैं.

अरविंद केजरीवाल और उनके साथियों के आम आदमी पार्टी के गठन की घोषणा से चुनाव लड़ने तक की कहानी को आनंद के दो सहयोगियों खुशबू रांका और विनय शुक्ला ने 400 घंटे पर्दे के पीछे की गतिविधियों को शूट किया और उस पर फिल्म बनाई.

फर्स्टपोस्ट के साथ बातचीत में फिल्म की टीम ने बताया कि यह पहली बार है जब किसी पार्टी के अंदर चल रही बहस, लड़ाइयों और तमाम गतिविधियों को शूट करके कोई फिल्म बनाई गई है. फिल्म में कोई भी इंटरव्यू या सूत्रधार नहीं है जो बाहर से कुछ बताए. सारे विवादों और बातों को जस का तस रखा गया है. जिसके चलते ये अपनी तरह की इकलौती फिल्म होगी.

एक ओर जहां इस फिल्म की दुनियाभर में तारीफ हो रही है, भारत में इसको लेकर विवाद भी हुए. सेंसर बोर्ड के अब भूतपूर्व और प्रख्यात चेयरमैन पहलाज निलहानी ने कहा कि फिल्म भारत में तभी रिलीज होगी जब प्रोड्यूसर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और देश के दूसरे नेताओं से नो ऑब्जेक्शन लिखवा लाएंगे. इसके बाद भी फिल्म में बीजेपी और कांग्रेस का नाम हर जगह से म्यूट करना पड़ेगा.

लंबी अदालती लड़ाई के बाद फिल्म रिलीज हो रही है. भारत में राजनीति मनोरंजन का भी एक मुद्दा रहा है. लगभग हर चुनाव में हम सुनते हैं कि ‘फलां इलेक्शन अब और भी दिलचस्प हो गए हैं.’ ऐसे में अरविंद केजरीवाल के एक ऐक्टिविस्ट से मुख्यमंत्री बनने की यात्रा को दिखाती इस डॉक्युमेंट्री कितना सफल होती है देखना रोचक होगा.

हालांकि 17 नवंबर को रिलीज हो रही इस फिल्म के देश भर में रखे प्रिव्यू शो अभी से हाउसफुल हो चुके हैं. जो किसी भी डॉक्यूमेंट्री के लिए भारत में बड़ी बात है. दुनियाभर में अपनी गुणवत्ता के लिए जाने वाले चैनल वाइस के सहयोग से प्रमोट हो रही इस फिल्म में 21वीं सदी के सबसे चर्चित राजनीतिक आंदोलन को कितना निरपेक्ष रूप से उतारा गया है, देखना रोचक होगा.

आप देखिए फिल्म की टीम के साथ फर्स्टपोस्ट की खास बातचीत

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi