S M L

पद्मावत विवाद: AIMIM के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी की मुसलमानों को नसीहत, न देखने जाएं फिल्म

‘पद्मावत’ एक मनहूस और गलीज यानि बुरी फिल्म है. उसके पीछे भागने की जरूरत नहीं है

Updated On: Jan 19, 2018 03:33 PM IST

Arbind Verma

0
पद्मावत विवाद: AIMIM के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी की मुसलमानों को नसीहत, न देखने जाएं फिल्म

सुप्रीम कोर्ट से संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ को राहत मिलने के बाद भी ये विवाद रुकने का नाम नहीं ले रहा है. पहले करणी सेना ने सुप्रीम कोर्ट की अवहेलना करते हुए कई जगह तोड़-फोड़ और आगजनी की और अब हैदराबाद से एआईएमआईएम के मुखिया असदुद्दीन औवैसी ने इस फिल्म को बकवास बताते हुए मुसलमानों से फिल्म को न देखने का आग्रह किया है.

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा पद्मावत को बकवास

सुप्रीम कोर्ट से हरी झंडी मिलने के बाद भी ‘पद्मावत’ का विरोध लगातार जारी है. करणी सेना के बाद अब एआईएमआईएम के मुखिया असदुद्दीन औवैसी ने इस फिल्म को बकवास बताते हुए मुसलमानों से फिल्म को न देखने का आग्रह किया है. उन्होंने ये बयान वारंगल में हुए अखिल भारतीय अभियान के दौरान ‘सेव शरिया’ को लेकर एक सार्वजनिक बैठक को संबोधित करते हुए दी. उन्होंने मुसलमानों से कहा कि वो इस फिल्म को देखकर अपना समय बर्बाद न करें. साथ ही उन्होंने कहा कि ‘पद्मावत’ एक मनहूस और गलीज यानि बुरी फिल्म है. उसके पीछे भागने की जरूरत नहीं है, ‘पद्मावत’ को देखने न जाएं.

ओवैसी ने मुसलमानों को दी नसीहत

ओवैसी ने मुसलमानों को राजपूतों से सीखने की नसीहत देते हुए कहा कि राजपूत अपनी रानी के समर्थन में खड़े हैं. वो हमें आईना दिखा रहे हैं. वो ‘पद्मावत’ के मुद्दे पर एकजुट हैं और किसी भी सूरत में फिल्म को रिलीज न होने देने पर अड़े हैं लेकिन मुसलमानों को विभाजित किया जा रहा है. इस्लामी कानून को बदलने के लिए प्रयास किए जाने पर वो अपनी आवाज नहीं उठाते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi