S M L

Shocking : रेप की बढ़ती घटनाओं से डरी इस एक्ट्रेस ने दिल्ली छोड़ मुंबई में बना लिया अपना आशियाना

मनोरंजन | Rajni Ashish | Apr 24, 2018 12:29 PM IST
X
1/ 4
टीवी की दुनिया में नाम कमाने के बाद अब अक्षय कुमार की फिल्म ‘गोल्ड’ में काम कर रही एक्ट्रेस निकिता दत्ता ने दिल्ली और नोएडा के बारे में एक बड़ा बयान दिया है. टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में निकिता ने बताया कि वह दिल्ली-एनसीआर की तुलना में वह मुंबई में रहना ज्यादा पसंद करती है. उन्हें मुंबई ज्यादा सेफ लगता है.

टीवी की दुनिया में नाम कमाने के बाद अब अक्षय कुमार की फिल्म ‘गोल्ड’ में काम कर रही एक्ट्रेस निकिता दत्ता ने दिल्ली और नोएडा के बारे में एक बड़ा बयान दिया है. टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में निकिता ने बताया कि वह दिल्ली-एनसीआर की तुलना में वह मुंबई में रहना ज्यादा पसंद करती है. उन्हें मुंबई ज्यादा सेफ लगता है.

X
2/ 4
इन दिनों अपने घर नोएडा आई हुई निकिता ने बताया- 'मुंबई में जिंदगी हमेशा चलती रहती है जबकि दिल्ली में मुझे ब्रेक लेना पड़ता है, इससे मुझे बहुत शांति मिलती है. मुझे ऐसा लगता है कि यहां पर मुझे किसी राजकुमारी जैसा ट्रीटमेंट मिल रहा है. मैं तीन साल तक जनपथ में रही हूं और मुझे वह जगह बहुत पसंद है. हालांकि मुंबई की तुलना में दिल्ली सेफ नहीं है. यहां पर बहुत सी चीजों का डर है.'

इन दिनों अपने घर नोएडा आई हुई निकिता ने बताया- 'मुंबई में जिंदगी हमेशा चलती रहती है जबकि दिल्ली में मुझे ब्रेक लेना पड़ता है, इससे मुझे बहुत शांति मिलती है. मुझे ऐसा लगता है कि यहां पर मुझे किसी राजकुमारी जैसा ट्रीटमेंट मिल रहा है. मैं तीन साल तक जनपथ में रही हूं और मुझे वह जगह बहुत पसंद है. हालांकि मुंबई की तुलना में दिल्ली सेफ नहीं है. यहां पर बहुत सी चीजों का डर है.'

X
3/ 4
उन्होंने आगे कहा- 'नोएडा में मेरा बहुत अनुभव नहीं रहा है. जब मैं छोटी थी तो अट्टा मार्केट जाया करती थी. दिल्ली-नोएडा पसंद है लेकिन यहां पर शाम 7 बजे के बाद वह बाहर निकलना नहीं पसंद करती हैं.' निकिता ने कहा- 'क्योंकि मैंने अपनी जिंदगी मुंबई में गुजारी है तो मेरे लिए दिल्ली एक ऐसी जगह है जहां मैं रिश्तेदारों से मिलने आती हूं और कोशिश करती हूं कि शाम को 7 बजे से पहले वापस घर आ जाऊं. इसके बाद मैं बाहर तब निकलती हूं जब मुझे शॉपिंग से लिए या जिम के लिए जाना होता है. वैसे उस समय भी मेरे साथ कोई न कोई मौजूद रहता है.'

उन्होंने आगे कहा- 'नोएडा में मेरा बहुत अनुभव नहीं रहा है. जब मैं छोटी थी तो अट्टा मार्केट जाया करती थी. दिल्ली-नोएडा पसंद है लेकिन यहां पर शाम 7 बजे के बाद वह बाहर निकलना नहीं पसंद करती हैं.' निकिता ने कहा- 'क्योंकि मैंने अपनी जिंदगी मुंबई में गुजारी है तो मेरे लिए दिल्ली एक ऐसी जगह है जहां मैं रिश्तेदारों से मिलने आती हूं और कोशिश करती हूं कि शाम को 7 बजे से पहले वापस घर आ जाऊं. इसके बाद मैं बाहर तब निकलती हूं जब मुझे शॉपिंग से लिए या जिम के लिए जाना होता है. वैसे उस समय भी मेरे साथ कोई न कोई मौजूद रहता है.'

X
4/ 4
निकिता ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा- 'क्योंकि मेरे माता-पिता यहां पर हैं, तो यहां पर मैं अपने माता-पिता के नियमों के हिसाब से चलती हूं और वक्त से वापस लौट आती हूं. हम दिल्ली और नोएडा में लड़कियों के बारे में तमाम ऐसी कहानियां सुनते हैं जिसके बाद यह पता चलता है कि यह लड़कियों के लिए सेफ नहीं है, इसलिए मुझे लगता है कि जल्दी वापस लौट आना ही ठीक है. मेरे दिल्ली के दोस्त मुझे यह बताते हैं कि दिल्ली सेफ है लेकिन मैं उन्हें मिलने के लिए लंच का वक्त ही देती हूं. यदि मुझे डिनर के लिए बाहर जाना भी होता है तो मैं कोशिश करती हूं कि अपने परिवार के साथ ही बाहर जाऊं.

निकिता ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा- 'क्योंकि मेरे माता-पिता यहां पर हैं, तो यहां पर मैं अपने माता-पिता के नियमों के हिसाब से चलती हूं और वक्त से वापस लौट आती हूं. हम दिल्ली और नोएडा में लड़कियों के बारे में तमाम ऐसी कहानियां सुनते हैं जिसके बाद यह पता चलता है कि यह लड़कियों के लिए सेफ नहीं है, इसलिए मुझे लगता है कि जल्दी वापस लौट आना ही ठीक है. मेरे दिल्ली के दोस्त मुझे यह बताते हैं कि दिल्ली सेफ है लेकिन मैं उन्हें मिलने के लिए लंच का वक्त ही देती हूं. यदि मुझे डिनर के लिए बाहर जाना भी होता है तो मैं कोशिश करती हूं कि अपने परिवार के साथ ही बाहर जाऊं.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी