S M L

चाहे बॉलीवुड में काम रहे या न रहे लेकिन 'कास्टिंग काउच' रहेगा?

कास्टिंग काउच पर गाहे-बगाहे बॉलीवुड में बहस चलती रहती है लेकिन इस पर रोक लगा पाना फिलहाल मुश्किल लग रहा है

Bharti Dubey Updated On: Mar 25, 2018 07:09 PM IST

0
चाहे बॉलीवुड में काम रहे या न रहे लेकिन 'कास्टिंग काउच' रहेगा?

बॉलीवुड में पिछले कुछ दिनों में MeToo कैंपेन के सहारे कई हीरोइन्स ने कास्टिंग काउच को लेकर अपनी आपबीती सुनाई है. कुछ हीरोइन्स ने इस पर थोड़ा बहुत कहा है लेकिन किसने उनके साथ क्या किया किसी का नाम लिए बिना, तो कुछ हीरोइन्स का कहना है कि अगर उन्होंने कास्टिंग काउच के बारे में बोला तो उनका करियर खत्म हो जाएगा.

फिल्म उद्योग में MeToo से जुडी़ बातें भी लोगों को पर्याप्त भरोसा नहीं दे पा रही हैं और न ही ये तय हो पाया है कि इन गतिविधियों में शामिल रहे लोगों के खिलाफ क्‍या कदम उठाए जाएं.

हॉलीवुड ने अब आंखे खोल ली हैं और नाम लिए जा रहे हैं, लेकिन हमारी इंडस्ट्री के तरीक महज सतह को खरोंच भर रहे हैं और बॉलीवुड की इस बुरे हिस्‍से के जख्‍म अभी भी रिस रहे हैं जिनका पता वक्‍त बेवक्‍त मिलता रहता है.

डेज़ी ईरानी ने 6 साल की उम्र में दुर्व्यवहार होने के बारे में खुलासा किया है कि आज की लड़कियां इस बारे में बात नहीं कर सकती. अगर वे बोलती हैं और बलात्कार की चीख सुनाती हैं तो कोई उन्हें काम नहीं देगा.

वेटरन एक्ट्रेस डेजी ईरानी ने अभी हाल में उनके साथ हुए रेप की शिकायत करके सबको चौंका दिया

वेटरन एक्ट्रेस डेजी ईरानी ने अभी हाल में उनके साथ हुए रेप की शिकायत करके सबको चौंका दिया

कुछ ऐसे लोग हो सकते हैं जिनको इसके लिए मजबूर किया गया हो, या जिन्‍होंने अपनी मर्जी से ऐसा किया हो पर अगर वे नाम जाहिर करती हैं तो फिल्‍म इंडस्‍ट्री उनसे किनारा कर लेगी.

उनके भतीजे फरहान अख्तर ने कहा, "इस लेख को पढ़ने के बाद मेरा दिल टूट गया पर मुझे गर्व है कि आंटी डेजी ईरानी ने इसे कहा. यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि माता-पिता अपने बच्चों को उनके जरिए सफलता हासिल करने के लिए इस तरफ धक्का दे रहे हैं. इसे फिल्म और टीवी इंडस्‍ट्री के लिए वेक आप कॉल के रूप में देखा जाना चाहिए. ..संभलना होगा. ..'

कास्टिंग की प्रतीकात्मक तस्वीर

कास्टिंग की प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रियंका चोपड़ा ने एक फिल्म से बाहर होने के बारे में बताया पर फिल्मकार का नाम जाहिर नहीं किया गया, हालांकि अटकल हे कि वह फिल्म उद्योग का एक बड़ा आदमी है. मेरे एक साक्षात्कार में जब मैंने राधिका आप्टे से कास्टिंग काउच की समस्या के बारे में पूछा गया था, तो उन्‍होंने कहा, "मुझे उम्मीद है कि यह जल्द ही खत्म हो जाएगा. लोगों ने ना कहना शुरू करना और गंदगी को रोकना भी जरुरी है. यह सब खुलकर बात करने से स्‍टार्ट होता है और समर्थन मिलना शुरू होता है. लोगों ने इस बारे में ज्यादा बात करना शुरू कर दिया है लेकिन अभी तक वे खुले नहीं हैं.''

ये भी पढें - कास्टिंग काउच पर इस पॉपुलर टीवी स्टार ने किया बड़ा खुलासा, कहा खुद हो चुका है शिकार

धारावाहिक बनाने के काम में शामिल एक काफी सफल एक्टर ने कहा कि सबसे प्रशंसित फिल्म निर्माता ने दक्षिण मुंबई में एक 5 सितारा होटल में उन्‍हें फोन किया था. उनकी फिल्म का अनुबंध बिस्तर के एक तरफ रखा गया था और उन्‍हें कपड़े उतारने और खुश करने के लिए कहा गया.

इस पर उन्‍होंने कमरा छोड़ दिया लेकिन वह भी उसका नाम लेना नहीं चाहता, लेकिन इस बात का पर्याप्त संकेत दिया कि कैसे बडे लोग नये लोगों का फायदा उठाते हैं.

इंडस्‍ट्री में रणवीर सिंह जैसे कलाकार भी हैं, जिन्होंने भी कास्टिंग काउच के बारे में बात की है और दुनिया को अपना अनुभव सुनाया है. एक खराब छवि वाले सीनियर प्रोडयूसर, जिन्‍हें युवा कलाकारों को कॉल करने के लिए जाना जाता है और ऐसे कई लोग हैं जो काम पाने के लिए उनके पास जाने को स्‍वीकार कर चुके हैं. वह अब वर्तमान में एक सुपरस्टार के साथ एक बड़ी फिल्म का निर्माण कर रहे हैं.

Shocking: साउथ की मशहूर एक्ट्रेस श्रुति हरिहरन का खुलासा, मैं हुई कास्टिंग काउच की शिकार

कास्टिंग काउच निश्चित रूप से है लेकिन आज की महत्वाकांक्षी अभिनेताओं को मजबूर करने की शक्ति काफी कम हो गई है. एक लोकप्रिय टीवी अभिनेत्री अपने अनुभव बताती हैं , "एक कोर्डिनेटर ने मुझे एक विज्ञापन फिल्म की पेशकश करते हुये कहा कि इसमें शर्त ये है कि आपको फिल्म के निर्माताओं के साथ सोना होगा. मैंने मना कर दिया. इसलिए कोई भी आपको तब तक मजबूर नहीं कर सकता जब तक कि आप काम पाने के लिए समझौता करने के लिए तैयार न हों. ''

Shocking: ऋचा चड्ढा का कास्टिंग काउच पर बड़ा बयान, मुझे डेट पर जाने को किया गया मजबूर

एक बड़ी कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी संघर्षरत अभिनेत्रियों से खुलेआम सौदेबाजी करते हैं. अगर वह उनकी किसी भी परियोजना का हिस्सा बनने की इच्छा रखती है तो मुंबई के लोखंडवाला में उनके ठिकाने की एक यात्रा आवश्यक है. वह एक प्रमुख भूमिका की गारंटी नहीं देते, लेकिन लड़कियां इस उम्‍मीद में चली जाती हैं कुछ बड़ा हाथ लग जायेगा और उन्‍हें काम मिल सकेगा अभिनेत्री रवीना टंडन ने कहा कि इससे कोई इनकार नहीं कर रहा है कि कास्टिंग काउच बॉलीवुड में मौजूद है.

कास्टिंग काउच को लेकर इलियाना डीक्रूज ने किया ये शॉकिंग खुलासा

उन्होंने कहा, "कास्टिंग काउच या बच्चे से छेड़छाड़ निश्चित रूप से है. दुर्भाग्य से बच्चों को पता भी नहीं है कि उनके साथ क्या हो रहा है, लेकिन महिलाओं को अपनी आवाज उठानी चाहिए, जब तक वे खुलकर बात नहीं रखतीं कि पुरुष किस तरह दबाव की रणनीति अपनाते हैं।

मैं अपनी फिल्म उद्योग के बारे में बात नहीं कर रही हूं, ये हर इलाके के इंडस्‍ट्री में है. महिलाओं को सामने आना चाहिये और एक स्टैंड लेना चाहिये और ऐसा करने पर उन्हें समर्थन मिलेगा. ऐसे कई संगठन हैं जो इसमें मददगार हैं. मैं उनसे बोलने का अनुरोध करती हूं. ''

कास्टिंग काउच पर इस पॉपुलर टीवी स्टार ने किया बड़ा खुलासा, कहा खुद हो चुका है शिकार

जब पूछा गया कि फिल्म उद्योग इस माहौल को खत्म करने के लिए क्या कर सकता है, तो अभिनेत्री राइमा सेन ने कहा, "इंडस्‍ट्री बहुत कुछ नहीं कर सकती ... जो लोग पीड़ित हैं, उन्हें बोलने की ज़रूरत है ... और जागरूकता पैदा करें ताकि लोग स्वयं के लिए खड़े हों और ‘नो’ कह सकें .. आत्मविश्वासी हों ..... जागरूकता पैदा करें कि सफलता हासिल करने का कोई शार्टकट नहीं है."

अगर हम उपनगरों में कैफे में जाएं हैं, तो हम सभी को कास्टिंग कोर्डिनेटर या कुछ एडीटर के बारे में पता चलेगा जो अच्छे संबंध रखने का दावा करते हुये काम दिलाने की बात करते हैं. एक नए एक्‍टर ने जब एक आदमी से मोहित सूरी का नाम सुना तो उस लड़की आंखे चमक उठीं.

बड़े निर्देशकों और फिल्म निर्माताओं के नामों का दुरुपयोग बड़े पैमाने पर होता है. कास्टिंग डायरेक्‍टरों के दलाल प्रोडक्‍शन हाउस के आसपास घूमते नजर आते हैं. एक बड़े प्रोडक्शन हाउस के एक सूत्र ने कहा, "वे नए लोगों को आकर्षित करने के लिए हमारे नामों का उपयोग करते हैं. हमने ऐसे संदिग्ध कास्टिंग डायरेक्‍टरों के खिलाफ मामला दायर किया है.

कास्टिंग डायरेक्‍टर और सहायक निदेशक संघर्षरत एक्‍टर्स का फायदा उठाते हैं. ऐसे ही एक अभिनेता ने कहा, "आज लड़कियों की तुलना में लड़कों का अधिक शोषण किया जाता है और इसे आप खुले तौर पर उपनगरों में कॉफी की दुकानों पर देख सकते हैं." टेलीविजन की दुनिया में शोषण होते हैं. अगर एक अभिनेत्री प्रभावशाली लोगों के आदेशों का पालन नहीं करती है, तो अक्सर उसे हटा दिया जाता है.

एक उद्योग सूत्र ने कहा, "एक वरिष्ठ अधिकारी पश्चिमी उपनगर में बने फ्लैट में अभिनेत्रियों को फोन करके बुलाता था. अगर वह नहीं मानती थी तो उसे सीरियल से बाहर निकाल दिया जाता था." टेलीविजन धारावाहिकों से कुछ चेहरों का गायब होना या कम होना इसलिए है कि क्योंकि वे कलाकार समझौता करने से इनकार करते हैं."

ऐसे भी लोग भी हैं जो सौदेबाजी के लिए तैयार हैं और ऐसी फिल्‍मी शख्सियत जो इस जाल में फंस गए हैं, वे ऐसे हैं जिन्होंने वादा किया है और अब पूरा करने की हालत में नहीं हैं. इसलिए यदि बात पूरी नहीं होती है तो इस शोषण की बात बाहर आ जाती है और दो बड़े फिल्म निर्माताओं को ऐसे मामलों में अदालत में खींच लिया गया है.

यौन उत्पीड़न मामला: शिमला पुलिस ने जीतेंद्र के खिलाफ दर्ज की एफआईआर

दक्षिण में यह चौंकाने वाला नहीं है और वहां इसे कभी-कभी गुरु दक्षिणा कह दिया जाता है. लेकिन हाल ही में अभिनेता जितेंद्र की एक चचेरी बहन ने दशकों पुरानी यादों को ताजा करते हुये के बाद उनके खिलाफ मामाला दायर किया है. इसके अलावा एक अनुभवी अभिनेत्री ने एक कारोबारी साझीदार पर मामला दर्ज कराया. सुप्रीम कोर्ट के वकील रुना भुयां ने जब कहा, "जितेन्द्र के मामले में किसी का दावा है कि उन्‍होंने किसी के साथ बलात्कार किया है.

इसमें 40 साल बाद मामला दर्ज किया गया है पर अब इसकी कोई भी मेडिकल परीक्षा नहीं हो सकती है, अचरज की बात है कि शिमला पुलिस ने मामला कैसे दर्ज कर लिया'' लेकिन ऐसे मामले हैं जहां प्रोडयूसर्स ने काम देने का वादा करते यौन संबंध बनाए हैं. इन पर रुना ने कहा, "यह सब इस बात पर निर्भर करता है कि अदालत क्या समझती है. शादी या काम के वादे के साथ किसी के साथ यौन संबंध होना बलात्‍कार की तरह समझा जा सकता है.

सेलिब्रिटी यौन उत्पीड़न: कितना हादसा और कितनी हकीकत!

CINTAA कास्टिंग काउच को लेकर बहुत कुछ नहीं कर सकती. सुशांत सिंह ने कहा, "यह एक दो तरफा सड़क है, कई बार इसमें सहमति भी होती है, इसलिए तब वह कोई मुद्दा नहीं है, लेकिन जब शिकायतें आती हैं तो हम देखते हैं और अपराधी के खिलाफ कार्रवाई करते हैं."

ऐसे में इतने सारे लोगों की राय जानने के बाद फिलहाल तो ये कहा ही जा सकता है कि इतनी जल्दी बॉलीवुड से कास्टिंग काउच को निकलना मुश्किल है क्योंकि खुलकर कोई भी इसके खिलाफ खड़ा नजर नहीं आ रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गोल्डन गर्ल मनिका बत्रा और उनके कोच संदीप से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi