S M L

कार्यक्रम में नवाजुद्दीन सिद्दीकी को बुलाकर क्या संदेश देना चाहती है आरएसएस?

नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के लेक्चर में जाकर राजनीति पर नजर रखने वाले कई जानकारों को चौंका दिया है

Updated On: Sep 17, 2018 11:48 PM IST

Hemant R Sharma Hemant R Sharma
कंसल्टेंट एंटरटेनमेंट एडिटर, फ़र्स्टपोस्ट हिंदी

0
कार्यक्रम में नवाजुद्दीन सिद्दीकी को बुलाकर क्या संदेश देना चाहती है आरएसएस?

एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीकी से आज दिल्ली में आरएसएस के मुखिया मोहन भागवत ने मुलाकात की. मोहन भागवत ने आज लोगों के सामने अपना विजन पेश किया. जिसमें नवाज के साथ-साथ अन्नू कपूर, मनीषा कोईराला, अन्नू मलिक जैसे स्टार्स ने भी शिरकत की.

आप तस्वीरों में मनोज तिवारी को भी देख सकते हैं. तो इस कार्यक्रम में नवाज अपनी फिल्म मंटो का प्रमोशन करने गए थे या फिर इसमें उनका अपना प्रमोशन भी छिपा है?

Nawaz 2

आपको बता दें कि ये कोई फिल्म प्रमोशन स्ट्राटेजी नहीं कही जा सकती क्योंकि मंटो के प्रचार के लिए न तो नवाज को आरएसएस की जरूरत है और न आरएसएस को फिल्मों में कोई खास इंट्रेस्ट. तो फिर नवाज या आरएसएस का कॉमन इंट्रेस्ट क्या हो सकता है? वो आप इस तस्वीर से समझने की कोशिश करें. क्या नवाज के सहारे अल्पसंख्यकों की विरोधी का दाग धोने की कोशिश में है आरएसएस?

Nawaz 1

फोटोग्राफ्स में आप देख सकते हैं कि नवाजुद्दीन सिद्दीकी मोहन भागवत के साथ सहज नजर आ रहे हैं. नवाज के करीबी सूत्रों के मुताबिक ये मुलाकात बहुत ही हल्के फुल्के माहौल में हुई. नवाज के साथ मोहन भागवत ने ठीक-ठाक वक्त गुजारा. उन्होंने नवाज के काम की तारीफ की और नवाज ने भी उन्हें अपनी फिल्मों के बारे में खुलकर बताया.

मुंबई में नवाज ने छोड़ा मंटो का प्रीमियर

नवाज की फिल्म मंटो का प्रीमियर आज मुंबई के जुहू पीवीआर में रखा गया था जिसमें इंडस्ट्री के तमाम बड़े स्टार्स ने शिरकत की. नवाज को इसकी पूरी जानकारी थी फिर भी उन्होंने इसे मिस करके आरएसएस के कार्यक्रम को ज्यादा तवज्जो दी.

नंदिता हैं बीजेपी की विरोधी

नवाज की फिल्म मंटो रिलीज के लिए तैयार है. इस फिल्म को बनाया है नंदिता दास ने. नंदिता दास लंबे वक्त से बीजेपी के साथ-साथ पीएम मोदी की भी धुर विरोधी रही हैं. मोदी के खिलाफ उनके विचार जानने के लिए आप गूगल कर सकते हैं. जाहिर है आरएसएस के बारे में भी नंदिता के ऐसे ही विचार हैं.

समाजवादी पार्टी के समर्थक रहे हैं नवाज

मुजफ्फरनगर के रहने वाले नवाजुद्दीन सिद्दीकी अखिलेश यादव सरकार की योजनाओं के ब्रांड एंबैसडर रहे हैं. उन्हें इसका इनाम भी मिला जब उनके छोटे भाई सबा सिद्दीकी की बेगम फैजुद्दीन सिद्दीकी को एसपी ने बुढ़ाना नगरपालिका अध्यक्ष पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाया. जिसके बाद से ये माना जाने लगा था कि उनका परिवार अखिलेश का फैन है और वो अपना समर्थन उन्हें दे चुका है.

आमिर खान को भी मिला था आरएसएस का साथ

आमिर खान जब देश में असहिष्णुता की बात करके फंस गए थे तो कई कंपनियों के कॉन्ट्रेक्ट से हाथ धोना पड़ा था. आमिर को लोगों ने इतना ट्रोल कर डाला था कि स्नैपडील जैसी कंपनियों ने आमिर से अपनी डील ही रद्द कर दी थी. जिसके बाद आमिर खान ने मोहन भागवत से अवॉर्ड लिया था. जिससे संदेश ये ही गया कि आमिर को अब आरएसएस को सपोर्ट मिल गया है. आप इस फोटो में देख सकते हैं कि मोहन भागवत उन्हें अवॉर्ड दे रहे हैं.

Aamir Mohan Bhagwat

बॉलीवुड में बढ़ चुका है नवाज का कद

नवाज की इस मुलाकात के बाद ये माना जा सकता है कि वो भले ही राजनीति में एंट्री सीधे तौर पर न करें लेकिन अंदरखाने में उन्होंने अपना संदेश साफ दे दिया है कि वो भी अब बॉलीवुड के उन सुपरस्टार्स में शामिल हो चुके हैं जो फिल्मों के साथ साथ सत्ता को भी अपने फेवर में साधकर रखने में माहिर हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi