विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

मैं माधुरी दीक्षित बनना चाहती हूं: आलिया भट्ट

आलिया की फिल्म बद्रीनाथ की दुल्हनिया 10 मार्च को रिलीज़ हो रही है.

Runa Ashish Updated On: Mar 06, 2017 10:39 PM IST

0
मैं माधुरी दीक्षित बनना चाहती हूं: आलिया भट्ट

आलिया भट्ट वैसे तो अपने अलग-अलग किरदार निभा कर खुश हैं लेकिन उनकी इच्छा है कि वो माधुरी दीक्षित की तरह आइकॉनिक हिरोइन बने.

दरअसल, जॉली एलएलबी में जज बने अभिनेता सौरभ शुक्ला फिल्म में आलिया के बड़े फैन दिखाए गए हैं. वो कहते भी हैं कि मधुबाला, माधुरी दीक्षित के बाद उन्हें कोई सुंदर लगा है तो वो आलिया ही हैं.

आलिया कहती हैं कि उन्होंने फिल्म तो नहीं देखी है लेकिन वो इस सीन के बारे में सुन चुकी हैं और मानती हैं कि वो भी एक दिन ऐसी ही हिरोइन बनना चाहती हैं.

उनके मुताबिक वे चाहती हैं कि आने वाले दिनों में सच में उनका नाम इन्हीं हिरोइनों में लिया जाए और लोग उन्हें कहें कि वो आलिया या दीपिका कॉम्बिनेशन है.

फिल्म बद्रीनाथ की दुल्हनिया में आलिया 'वैदेही' का रोल निभा रही हैं? हालांकि, उन्हें वैदेही नाम का मतलब नहीं मालूम है. इस  बारे में वे कहती हैं, 'बद्रीनाथ फिल्म में बद्री हमेशा भोलेनाथ की जय करता रहता है तो मुझे ये मालूम है लेकिन वैदेही का मतलब क्या होता है ये मैं नहीं जानती थी.'

वैसे ये कोई सोचा समझा काम नहीं है. वैसे भी शशांक ज्यादा अच्छे से बताएंगे इस बारे में. फिल्म में वरुण पर एक बद्रीनाथ के नाम का एक  टैटू भी है.

Badri launch

हालांकि, कई लोगों के नाम भगवानों के नाम पर होते हैं. वैसे इस फिल्म में आप कैसी दुल्हनिया बनी हैं?

आलिया कहती हैं, 'मैं यानी वैदेही फिल्म में सिर्फ दुल्हनिया नहीं है या फिर वो अपने आप को सिर्फ दुल्हनिया नहीं मानती है. उसके अपने सपने हैं कुछ तमन्नाएं हैं और वो चाहती है कि अपनी जिंदगी के साथ वो कुछ करे. उसका सपना होता है कि वो डॉक्टर बने या इंजीनियर बने लेकिन कुछ करे.'

आलिया आगे बताती हैं, 'वैदेही चाहती है कि वो एयरहोस्टेस बने, दुनिया घूमे या फिर उसकी अपनी एक दुनिया बने. ऐसे कुछ लोग जो शादी या उसके परिवार से ही ना जुड़ा हो. वो एक तरह से केयर-टेकर है जैसे कि वो बद्री के साथ भी है, वो तो बद्री को डांट भी देती है.'

आप कहती हैं कि वरुण रियल लाइफ मे बच्चा है?

इसपर आलिया का कहना है, 'हां, आपको नहीं लगता कि वो बच्चा है. वो तीस साल का बच्चा है जो बहुत साफ दिल और अबोध है. वो सब बातें दिल से करता है वो सोचता भी नहीं है और कर देता है फिर बच्चे भी तो वैसा ही करते हैं न.'

वे जोड़ती हैं,  'वैसे मैं भी वैसी ही हूं जब सेट पर मुझे खाना नहीं मिलता है तो मैं रो देती हूं. वैस वरुण कभी-कभी बकवास भी कर देता है किसी बच्चे की तरह वो तो सेट पर भी ऐसे ही करता है. उस समय पर मैं या निर्देशक शशांक उसे संभाल लेते थे.'

badrinath-ki-dulhania-first-look-poster-2

आपने और वरुण ने तीन फिल्में की हैं तो वरुण में कोई अंतर दिखा है?

मेरे हिसाब से वरुण अब ज्यादा शांत हो गए हैं. पहले वो बहुत ही हाइपर होते थे अपने शॉट्स को लेकर भी वो बहुत हाइपर होते थे. वो लोगों से पूछते थे कि मैंने टेक कैसा किया है. वो फिर भी जवाब से खुश नहीं होते थे. शायद अब वो लोगों के लेकर ज्यादा भरोसा करने लग गए हैं. खासकर निर्देशक पर. शायद उनमें अब एक ठहराव सा भी आ गया है. पहले उसे कॉमेडी सीन्स पसंद आते थे लेकिन अब वो सीन्स भी पसंद आते है जिनमें उसे सिर्फ रिएक्ट करना है. आप अलग अलग फिल्में कर रही हैं. कभी उड़ता पंजाब कर ली तो कभी बद्रीनाथ कर ली. कैसे अपने आप को फिल्म दर फिल्म ढाल लेती हैं?

मैं चाहती हूं कि कुछ अलग मैं हमेशा करती रहूं. मैं अभी कोई सीरियस फिल्म भी करना नहीं चाहती हूं. मैं बोर हो जाऊंगी रो-रो करके. मैं खूब हंसना चाहती हूं. मस्ती करना चाहती हूं. मुझे कॉमेडी करना है या ऐक्शन करना है या नेगेटिव किरदार करने हैं. वैसे, भी मैं किसी भी तरह से आसान नहीं होता कि आप डांस करें, सुंदर दिखें और प्यार जैसे इमोशन दिखाएं. बद्रीनाथ तो वैसे भी बहुत कमर्शियल और मसाला फिल्म है और ऐसी फिल्म करना भी आसान नहीं होता है. मैं कई तरह की फिल्में करने वाली हूं इसलिए नहीं कि बतौर अभिनेत्री मुझे ये करना भी चाहिए बल्कि इसलिए कि मैं एक ही तरह के किरदार करते-करते बोर हो जाने वाली हूं.

आलिया की फिल्म बद्रीनाथ की दुल्हनिया 10 मार्च को रिलीज़ हो रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi