विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

अब आंत के कैंसर के इलाज में मदद करेंगे प्रोबायोटिक्स!

आंत में पाए जाने वाले सूक्ष्म कीटाणुओं के असर को कम करने के लिए प्रोबायोटिक्स का इस्तेमाल करके आंत के कैंसर का इलाज किया जा सकता है.

Bhasha Updated On: Sep 16, 2017 03:45 PM IST

0
अब आंत के कैंसर के इलाज में मदद करेंगे प्रोबायोटिक्स!

स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माने जाने वाले प्रोबायोटिक्स आंत के कैंसर के इलाज में कारगर साबित हो सकते हैं. आंत में पाए जाने वाले सूक्ष्म कीटाणुओं के असर को कम करने के लिए अगर प्रोबायोटिक्स का इस्तेमाल किया जाए तो ये सूजन कम करके और मलाशय के ट्यूमर को खत्म करके आंत के कैंसर के इलाज में प्रभावकारी साबित हो सकते हैं.

अमेरिका में टेक्सास चिल्ड्रेंस हॉस्पिटल एंड कोलंबिया यूनिवर्सिटी के बेलर कॉलेज ऑफ मेडिसिन के रिसर्चर्स ने चूहों पर किए रिसर्च में यह पाया गया है. रिसर्चर्स ने जब चूहों के शरीर में हिस्टामिन पैदा करने वाले आंत के सूक्ष्म कीटाणु डाले तो उनमें सूजन कम हुई और ट्यूमर बनने में कमी आई. चूहों में खुद से हिस्टामिन पैदा करने की क्षमता नहीं होती इसलिए उनके शरीर में हिस्टामिन डाले गए.

रिसर्च में आए परिणामों से पता चला कि अगर आंत में पाए जाने वाले सूक्ष्म कीटाणुओं के असर को कम करने के लिए प्रोबायोटिक्स का इस्तेमाल किया जाए तो ये आंत में सूजन से होने वाली बीमारी से जुड़ी बड़ी आंत के कैंसर को रोकने और उसके इलाज में कारगर साबित हो सकता है.

बेलर कॉलेज ऑफ मेडिसिन में प्रोफेसर जेम्स वर्सालोविक ने कहा, ‘हम मानव शरीर में रहने वाले कीटाणुओं के अध्ययन कहलाने वाले माइक्रोबियम विज्ञान में प्रगति के दौर में है. इस रिसर्च से मानवीय बीमारी का पता लगाने और उसके इलाज में मदद मिलती है.’ बैक्टीरिया, फफूंदी और वायरस जैसे कीटाणुओं के समूह जो मानव शरीर में रहते हैं, उन्हें माइक्रोबियम कहते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi