विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

GUYसेक्सुअल: बायसेक्सुअल हम जैसे ही हैं, बस उनसे ये मत पूछिए

सेक्स को लेकर लोगों की पसंद अलग-अलग होती है. कुछ गे होते हैं, कुछ लेस्बियन.

Aniruddha Mahale Updated On: Dec 24, 2016 08:26 AM IST

0
GUYसेक्सुअल: बायसेक्सुअल हम जैसे ही हैं, बस उनसे ये मत पूछिए

सेक्स को लेकर लोगों की पसंद अलग-अलग होती है. कुछ गे होते हैं, कुछ लेस्बियन. कोई स्ट्रेट है यानी जिसकी विपरीतलिंगी साथी में दिलचस्पी है.

कुछ लोग बायसेक्सुअल होते हैं. यानी जिनकी औरतों और मर्दों में समान रूप से दिलचस्पी होती है.

ऐसे लोगों को अक्सर गलत समझ लिया जाता है. न तो गे समुदाय के लोग उन्हें अपना मान पाते हैं और न ही स्ट्रेट समुदाय के लोग उन्हें स्वीकार कर पाते हैं.

ऐसे लोगों के बारे में गे-कम्यूनिटी को लगता है कि वे ईमानदार नहीं है और स्ट्रेट को लगता है कि वे दूसरे तबके से आते हैं.

हमें ये समझना होगा कि सेक्स बड़ा ही पेचीदा और निजी विषय है. एक बायसेक्सुअल व्यक्ति की अलग-अलग वक्त में अलग जरूरत होती है, अलग चाहत होती है लेकिन अक्सर लोग उन्हें गलत समझ लेते हैं.

मसलन, 27 बरस के अनीश को ही लीजिए. अनीश समलैंगिक हैं. उन्हें बायसेक्सुल लोगों से बड़ी चिढ़ है. अनीश कहते हैं कि, 'वे लोग झूठे होते हैं, उनके अंदर सच्चाई की कमी होती है.'

अब अनीश को कौन समझाए कि बायसेक्सुअल्स इसी दुनिया के प्राणी हैं. बस उनकी अलग वक्त में अलग चाहतें होती हैं.

अनीश का मानना है कि बायसेक्सुअल्स जब चाहते हैं तब गे-साथी के साथ हो जाते हैं और जब मन करता है तब किसी महिला के साथ रिश्ते बना लेते हैं.

ऐसे ही ख्याल कॉपीराइटर कार्तिक के हैं. कार्तिक ने हाल ही में खुले तौर पर सबके सामने स्वीकार किया कि वह समलैंगिक हैं.

वह बताते हैं कि उनके एक शिल्पकार प्रेमी ने पांच साल पहले उनका दिल तोड़ दिया था. यह पांच साल पहले की बात है जब गूगल पर चैट करते हुए उनके उस बायसेक्सुअल साथी ने कार्तिक का साथ इसलिए छोड़ दिया था क्योंकि वो अपनी पुरानी प्रेमिका के पास जाना चाहते थे.

कार्तिक बताते हैं कि उनका वो पुराना साथी अब किसी मध्य-पूर्व देश में समलैंगिकों के अधिकारों की लड़ाई लड़ रहा है और सुनने में आया है कि अब वह किसी स्वीडिश अकाउंटेंट को डेट कर रहा है.

कार्तिक और अनीश के खयाल इतने मिलते हैं कि शायद उन्हें एक दूसरे का पार्टनर बन जाना चाहिए.

सबकुछ काला और सफेद नहीं है 

हम ऐसी दुनिया में रहते हैं जहां लोगों को सिर्फ काले या सफेद चश्मे से देखा जाता है. बायसेक्सुअलिटी एक ग्रे एरिया या बीच की दुनिया है, जिसे न गे-कम्यूनिटी स्वीकार करता है न ही स्ट्रेट लोगों का समुदाय.

उन्हें लगता है कि ऐसे लोगों को दुनिया का सारा सुख क्यों मिले- वे ये नहीं समझते हैं कि बायसेक्सुलिटी एक ठहराव नहीं बल्कि एक मंजिल है.

19 साल की शरण्या BMM की छात्रा हैं. जो अपनी वेबसाइट पर घर में बनी जूलरी बेचती हैं और सप्ताहांत में कविताएं लिखती हैं. वह अपनी बातों से किसी को भी अपनी तरफ आकर्षित कर सकती है.

शरण्या एक ऐसी लड़की है जो पहली नजर में लड़का लगती है. किसी भी समलैंगिक के लिए शरन्या आदर्श साथी हो सकती हैं. अफसोस कि वह लड़का नहीं है. और उसे मैं ये बता देता हूं. मगर उसे ये बात पसंद नहीं आयी. वो कहती है कि तुम्हारे साथ डेट करने के लिए मुझे लड़का नहीं बनना. कौन जानता था कि तारीफ इस कदर चालाक भी हो सकती है.

हालांकि, बायसेक्सुअल औरतों के साथ मेरा ट्रैक रिकॉर्ड बहुत खराब रहा है.

मैं उसे समझाने की कोशिश करता हूं कि मैंने ऐसा अच्छी नीयत से कहा था, मैं उसे नाराज नहीं करना चाहता था.

वो दोबारा झल्लाती है और सपाट लफ्जों में मुझसे कहती है कि, क्या आपको किसी अच्छे दिखने वाले लड़के ने ये कहा है कि अगर तुम लड़की होते तो मैं तुम्हें डेटिंग पर ले जाता?

मैं जब तक कि उसकी बायसेक्सुअलिटी को गलत समझने के लिए माफी मांगता, उसकी निगाहें एक खूबसूरत महिला से टकरा चुकी थीं.

Lindsay Lohan

लिंडसे लोहान ने भी दुनिया के सामने माना कि वे बायसेक्सुअल हैं

वो महिला एक स्टेज एक्ट्रेस थी, जो अपने नाटक के सफल होने की खुशी मना रही थी. उनकी आंखें आपस में मिलती हैं और मेरा 'गे-चार्म' धुंधला पड़ जाता है.

वो उस महिला के साथ कुछ लम्हें बिताने के लिए किचन में चली गई.

मैं तब तक स्पेन से आए एक समलैंगिक हेयरड्रेसर से बात करता रहा लेकिन मेरे ख्यालों में शरण्या ही चल रही थी.

करीब पंद्रह मिनट बाद दोनों अस्त-व्यस्त हालत में बाहर आए. लेकिन उनके चेहरे पर तसल्लीबक्श मुस्कान थी. शरन्या ने मेरी ओर देखकर मुझे आंख मारी. यानी अब उसका मूड अच्छा हो चुका था और मुझे हम दोनों के बीच शांति स्थापित करने की जरुरत नहीं थी.

थोड़ी देर बाद, वो मेरे बगल में आकर बैठ गई. फिर धीरे-धीरे अपनी बात रखनी शुरु की जो इस तरह से थी.

मुझे ये बात बुरी लगती है कि लोग बायसेक्सुअल लोगों को गलत क्यों समझते हैं. उनको अपनी ही कम्यूनिटी के लोग स्वीकार नहीं कर पाते हैं. हमारे बारे में बहुत सारी गलत धारणाएं बनी हुई हैं.

अगर आपको अपनी पसंद के इंसान से प्यार करने का हक है. तो हमें क्यों नहीं?

उस महिला से मुलाकात के बाद शरण्या का मूड बदल चुका था.

बायसेक्सुअलिटी पर नजरिया विकसित 

मगर इससे ये भी साबित हुआ कि बायसेक्सुअलिटी को लेकर मेरे, कार्तिक और अनीश के ख्याल में कोई फर्क नहीं है. फर्क सिर्फ ये है कि मेरी बेरुखी अज्ञानता के रुप में सामने आई है.

सिगरेट का कश लेते हुए शरण्या ने कहा, 'मसला ये नहीं कि मैं कितने लोगों को डेट कर चुकी हूं, मसला ये है कि मैं उस वक्त में कैसा महसूस कर रही थी.'

मैं शरण्या से कहता हूं कि चलो फिर से बात शुरू करते हैं. तुम मुझे बताओ कि मुझे तुमसे क्या नहीं कहना चाहिए था? इसके जवाब में उसने पूरी लिस्ट ही थमा दी.

उस लिस्ट में जिन बातों से उसने बचने को कहा वो ये है-

1. आपको लड़के ज्यादा पसंद हैं या लड़कियां?

2. आप गे हैं क्या ?

3. मैं बायसेक्सुअल्स से नफरत नहीं करता, मगर मुझे नहीं लगता कि मैं ऐसे किसी इंसान के साथ डेट कर सकता हूं ?

4. अगर आपको औरत या मर्द में से किसी एक को चुनना हो तो किसे चुनेंगे?

5. बिस्तर पर कौन बेहतर लगता है औरत या मर्द?

6. मुझे तुमसे जलन हो रही है. तुम अक्सर तीन लोगों (पुरुष और महिला) के साथ सेक्स का लुत्फ लेते होगे, है ना?

7. मुझे लगता है कि तुम एक कनफ्यूज्ड गे हो, तुम्हें पता ही नहीं कि तुम क्या चाहते हो. है न?

8. क्या तुम सुबह उठकर सोचते हो कि आज किसी मर्द की तलाश की जाए या औरत की?

9. हां, तुम इतनी हॉट हो कि लेस्बियन हो ही नहीं सकती.

10. क्या मैं तुम्हें अपने दोस्तों से मिलवा सकता हूं? वो कभी किसी बायसेक्सुअल से नहीं मिले हैं.

11. तुम्हारी पूर्व गर्लफ्रैंड की इस बारे में क्या राय है? शायद उसे पता ही नहीं, या ये सब उसी की वजह से है?

12. सिर्फ लड़कियां ही बायसेक्सुअल हो सकती हैं. आदमियों का तो सवाल ही नहीं उठता?

13. मुझे किसी बायसेक्सुअल लड़की के साथ डेट पर जाने में डर लगता है. क्या पता वो मुझे छोड़कर किसी दूसरी फीमेल साथी की तलाश में निकल जाए.

14. मुझे लगता है कि तुम गे हो, मगर तुम गे के तौर पर पहचाना जाना नहीं चाहते. इसीलिए तुम खुद को बायसेक्सुअल कहते हो. तुम समझ रहे हो न मैं क्या कह रहा हूं?

15. ये तो नाइंसाफी है. तुम तो इतने लोगों के साथ सेक्स कर सकते हो. मुझे  तुमसे नफरत है.

16. अच्छा, तो तुम्हें औरतें भी पसंद हैं और मर्द भी. तुम कुछ ज्यादा लालची नहीं हो रहे हो? कुछ हमारे लिए भी छोड़ दो यार.

17. तो तुम्हारा पसंदीदा रंग क्या है, गुलाबी या नीला?

18. पता है मैं तुम्हें अच्छी तरह से समझता हूं. जैसे बचपन में मुझे एक लड़के को किस करने की चुनौती मिली थी. इसका मतलब मैं भी बायसेक्सुअल हूं, है कि नहीं?

19. एक मिनट...तुम इसलिए तो बायसेक्सुअल नहीं हो क्योंकि अमेरिकी अभिनेत्री लिंडसे लोहान भी बायसेक्सुअल है. या कोई और वजह है...?

20. क्या तुम इसलिए बायसेक्सुअल हो कि तुम कमिटमेंट से डरते हो? या फिर फैसला करना तुम्हारे बस में नहीं है..?

तो शरण्या के इन नुस्खों के बाद उभयलिंगियों यानी बायसेक्सुअल्स के बारे में मेरी समझ बेहतर हुई है. हम जाम टकराते हैं. वो समलैंगिक हेयरड्रेसर अभी भी मेरे आसपास है और मुझे घर जाने की कोई जल्दी नहीं है.

ये भी पढ़ें: समलैंगिकों के डेटिंग ऐप की दुनिया ऐसी है!

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi