S M L

टाटा मोटर्स के प्लांट में काम ठप, पे-रीविजन से नाखुश कर्मचारियों ने काटा बवाल

कर्मचारियों ने वादा के अऩुसार पे-रीविजन नहीं करने का आरोप लगाकर प्लांट में पूरे दिन कामकाज ठप रखा

FP Staff Updated On: Sep 06, 2017 11:21 PM IST

0
टाटा मोटर्स के प्लांट में काम ठप, पे-रीविजन से नाखुश कर्मचारियों ने काटा बवाल

टाटा मोटर्स के जमशेदपुर प्लांट में काम करने वाले लगभग 8 हजार कर्मचारियों ने अपनी पे-रीविजन में सुधार की मांग को लेकर बुधवार को जमकर हंगामा किया. इस दौरान कर्मचारियों ने कामकाज बंद रखा.

कर्मचारियों का आरोप है कि मंगलवार को आई सैलरी में उनका ग्रेड रीविजन कहे के मुताबिक नहीं हुआ है. अधिकतर कर्मचारियों के अनुसार उन्हें लगता है कि सैलरी में उनका डीए बढ़कर आया है लेकिन बेसिक में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई है, जो उनसे पहले वादा किया गया था.

इसे लेकर मंगलवार शाम से सभी कर्मचारियों ने प्लांट में काम ठप कर दिया. हड़ताल के चलते बुधवार को टाटा मोटर्स में एक भी वाहन का निर्माण नहीं हुआ.

बुधवार को सुबह से सभी कर्मचारियों ने कंपनी के एक नंबर गेट के जनरल ऑफिस के पास जमा होकर हंगामा खड़ा किया. हंगामा बढ़ने पर कंपनी के अधिकारियों के साथ उनकी बातचीत हुई लेकिन वो किसी नतीजे तक नहीं पहुंची.

यूनियन के महामंत्री और अध्यक्ष ने मैनेजमेंट पर कर्मचारियों से वादाखिलाफी का आरोप लगाया है. उन लोगों ने कहा कि गलत ढंग से कंपनी के साथ समझौता करने से कंपनी के स्थाई कर्मचारी और अस्थाई कर्मी दोनों नाखुश हैं.

टाटा मोटर्स के जमशेदपुर प्लांट में लगभग 10 हजार लोग काम करते हैं. इनमें से 5 हजार कर्मचारी अस्थाई हैं. फैक्ट्री चलाने में अस्थाई कर्मचारियों की भी भूमिका महत्वपूर्ण है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गोल्डन गर्ल मनिका बत्रा और उनके कोच संदीप से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi