S M L

ऑटोमेशन से नहीं जाती नौकरियां: अरविंद पनगढ़िया

अरविंद पनगढ़िया के मुताबिक, ऑटोमेशन से एक तरह की नौकरियां जाती हैं तो दूसरी तरह की नौकरियां शुरू भी होती हैं

Updated On: Oct 03, 2017 04:59 PM IST

Bhasha

0
ऑटोमेशन से नहीं जाती नौकरियां: अरविंद पनगढ़िया

भारत के दिग्गज अर्शशास्त्री अरविंद पनगढ़िया ने संयुक्त राष्ट्र से कहा है कि वर्ल्ड एक्सपोर्ट मार्केट करीब 22,000 अरब डॉलर का है. यह इतना बड़ा है कि इस पर संरक्षणवाद का कोई असर नहीं होगा.

पनगढ़िया संयुक्त राष्ट्र महासभा की दूसरी समिति की बैठक को संबोधित कर रहे थे. हाल ही में पनगढ़िया ने नीति आयोग के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया था. पनगढ़िया अब कोलंबिया यूनिवर्सिटी में पढ़ाते हैं.

उन्होंने कहा, 'ऑटोमेशन को लेकर मेरी राय यह है कि आमतौर पर चीजों को बढ़ाचढ़ाकर बताया जाता है. हम यह तो देखते हैं कि ऑटोमेशन से कौन सी नौकरियां खत्म हुई लेकिन हम यह नहीं देख सकते हैं कि वास्तव में ऑटोमेशन से कैसी नौकरियों के मौके बनेंगे.'

पनगढ़िया ने जोर देकर कहा कि इतिहास में कभी ऐसा नहीं हुआ कि तकनीक से रोजगार में कटौती हुई हो. उन्होंने कहा, उदाहरण के लिए एक्सपोर्ट मार्केट 17,000 अरब डॉलर का है. सर्विस एक्सपोर्ट 5000 अरब डॉलर से लेकर 6000 अरब डॉलर का है. पनगढ़िया ने कहा, एक्सपोर्ट का बाजार इतना बड़ा है कि इस पर ऑटोमेशन का कोई असर नहीं होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi