विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

नए नोटों पर 'स्वच्छ भारत' लोगो! कुछ भी बताने से RBI का इनकार

इसके पीछे सुरक्षा संबंधी चिंताएं और कुछ अन्य वजह बताई गईं, एक आरटीआई में इससे संबंधित जानकारियां मांगी गई थीं

PTI Updated On: Oct 15, 2017 02:39 PM IST

0
नए नोटों पर 'स्वच्छ भारत' लोगो! कुछ भी बताने से RBI का इनकार

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने 500 और 2000 रुपए के नए नोटों पर 'स्वच्छ भारत अभियान' के लोगो के संबंध में कोई भी खुलासा करने से इनकार कर दिया. इसके पीछे सुरक्षा संबंधी चिंताएं और कुछ अन्य वजह बताई गईं. एक आरटीआई में इससे संबंधित जानकारियां मांगी गई थीं. स्वच्छ भारत अभियान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पसंदीदा प्रोजेक्ट्स में से एक है.

आरटीआई का जवाब देते हुए आरबीआई ने नोटों पर केंद्र सरकार की पहल के प्रमोशन सहित विज्ञापन से जुड़ी गाइडलाइन्स की कॉपी भी देने से इनकार कर दिया.

आरबीआई ने क्यों किया जवाब देने से इनकार

आरबीआई ने पीटीआई के संवादाता द्वारा फाइल की गई एप्लीकेशन के जवाब में कहा, ' नोटों के आकार, मैटेरियल, डिजाइन और सिक्युरिटी फीचर्स के बारे में पहले से उपलब्ध जानकारियों से इतर डिटेल्स को आरटीआई एक्ट, 2005 के सेक्शन 8 (1) (ए) की डिसक्लोजर की शर्तों से छूट मिली हुई है.'

यह सेक्शन 'ऐसी सूचना की जानकारी पर रोक लगाता है, जिनसे भारत की संप्रभुता और अखंडता, सुरक्षा, सामरिक, वैज्ञानिक या सरकार के आर्थिक हितों को नुकसान पहुंचता है.'

आरबीआई से उस ऑर्डर, कम्युनिकेशन, लेटर या नोट शीट की एक कॉपी भी मांगी गई थी, जिसके माध्यम से 500 और 2000 रुपए के नए नोटों पर स्वच्छ भारत अभियान के लोगो और संदेश 'एक कदम स्वच्छता की ओर' की प्रिंटिंग का फैसला लिया गया था.

करंसी नोट्स पर प्रमोशन सहित विज्ञापन की प्रिंटिंग की प्रक्रियाओं से संबंधित गाइडलाइन्स या नियमों से जुड़े सवाल पर आरबीआई ने सीधे तौर पर कोई जवाब नहीं दिया. आरबीआई ने कहा, 'भारत के बैंक नोटों में गिलोच, फ्लोरा पैटर्न, मोटिफ्स और सिक्युरिटी फीचर्स जैसे एलीमेंट्स शामिल होते हैं.'

यह आरटीआई फाइनेंस मिनिस्ट्री के अधीन आने वाले डिपार्टमेंट ऑफ इकोनॉमिक अफेयर्स (डीईए) में फाइल की गई थी. यह डिपार्टमेंट करंसी, कॉइन्स और सिक्युरिटी डॉक्यूमेंट्स के संबंध में पॉलिसी तैयार करता है और उनकी प्रिंटिंग से जुड़े मुद्दों पर प्लानिंग और कोऑर्डिनेशन जैसे काम संभालता है. डीईए ने इस आरटीआई को आरबीआई के पास भेज दिया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi