S M L

1 लाख करोड़ में वॉलमार्ट ने खरीदी फ्लिपकार्ट में 77 फीसदी हिस्सेदारी

सचिन बंसल और बिन्नी बंसल ने साथ मिलकर 2007 में फ्लिपकार्ट की स्थापना की थी, उन्होंने किताबें बेचने से कंपनी की शुरुआत की

Updated On: May 09, 2018 06:02 PM IST

FP Staff

0
1 लाख करोड़ में वॉलमार्ट ने खरीदी फ्लिपकार्ट में 77 फीसदी हिस्सेदारी

अमेरिकी रिटेल कंपनी वॉलमार्ट ने भारतीय ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट की 77 प्रतिशत हिस्सेदारी करीब 16 अरब डॉलर ( एक लाख पांच हजार 360 करोड़ रुपए) में खरीदने की घोषणा की है, वॉलमार्ट का यह अब तक का सबसे बड़ा अधिग्रहण है. इस सौदे में 11 साल पुरानी फ्लिपकार्ट का कुल मूल्य 20.8 अरब डॉलर आंका गया है. वॉलमार्ट ने जारी बयान में कहा कि उसने फ्लिपकार्ट की 77 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी है.

फ्लिपकार्ट में हिस्‍सेदारी रखने वाले जापानी ग्रुप सॉफ्टबैंक के सीईओ मासायोशी सोन ने भी इसकी पुष्टी की है. सॉफ्टबैंक इस सौदे से पहले फ्लिपकार्ट में सबसे बड़ा हिस्सेदार था. 20.8 प्रतिशत हिस्सेदारी सॉफ्ट बैंक के पास थी. इसके बाद टाइगर ग्लोबल 20.6 प्रतिशत की हिस्सेदारी के साथ दूसरे नंबर पर था.

कहा जा रहा है कि इस डील में सॉफ्टबैंक और टाइगर ग्लोबल ने भी अपने शेयर बेच दिए हैं. साथ ही साथ फ्लिपकार्ट के सह संस्थापक रहे सचिन बंसल इस सौदे के बाद कंपनी छोड़ देंगे.

बीते कई महीनों से अटकलों का बाजार गरम था कि वॉलमार्ट फ्लिपकार्ट खरीदने की तैयारी कर रहा है, लेकिन दोनों ने इस मामले पर टिप्पणी करने से बार-बार इनकार कर दिया था. फ्लिपकार्ट बिक्री के आधार पर भारत का सबसे बड़ा ई-कॉमर्स समूह है लेकिन अमेजन से उसे चुनौती मिल रही है.

आईआईटी दिल्ली से पास आउट सचिन बंसल और बिन्नी बंसल ने साथ मिलकर 2007 में फ्लिपकार्ट की स्थापना की थी. सचिन और बिन्नी पहले अमेजन डॉट कॉम इंक में काम करते थे. उन्होंने किताबें बेचने से कंपनी की शुरुआत की थी और धीरे-धीरे भारत के सबसे बड़े ई-कॉमर्स कंपनी के तमगे तक पहुंच गए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi