S M L

माल्या ने किया खुलासा, क्यों नहीं चुका पा रहे हैं लोन

माल्या ने कहा कि हमने संपत्तियों को न्यायिक देखरेख में बेचने और बकाया वापस करने का फैसला किया है.

Updated On: Jun 27, 2018 06:52 PM IST

FP Staff

0
माल्या ने किया खुलासा, क्यों नहीं चुका पा रहे हैं लोन

शराब कारोबारी विजय माल्या ने दो साल बाद मंगलवार को लोन फ्रॉड को लेकर अपनी चुप्पी तोड़ी. माल्या ने 5 पन्ने का एक विस्तृत बयान जारी कर दावा किया कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली को लोन सेटेलमेंट के लिए पत्र भी लिखा था, लेकिन उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं मिला.

माल्या को इतने दिनों बाद यह बयान क्यों जारी करना पड़ा, इस पर उन्होंने बताया कि उनकी कंपनी UBHL लिमिटेड ने कर्नाटक हाईकोर्ट के समक्ष 22 जून को याचिका दायर कर अपनी संपत्तियां बेचने की अनुमति मांगी है. इन संपत्तियों की कुल कीमत 13,900 करोड़ रुपए हैं, जिसे बेचकर वह बैंकों का सारा बकाया वापस करना चाहते हैं.

क्या है माल्या का प्लान?

माल्या ने कहा कि हमने इन संपत्तियों को न्यायिक देखरेख में बेचने और बकाया वापस करने का फैसला किया है. अगर ईडी और सीबीआई सरीखी एजेंसियां मेरे प्रस्ताव पर या संपत्तियों की बिक्री पर आपत्ति जताती हैं, तो यह साफ हो जाएगा कि मेरे खिलाफ किस तरह का एजेंडा चलाया जा रहा है.' उन्होंने कहा कि वह सरकारी बैंकों के लिए लोन रिकवरी के 'पोस्टर बॉय' बन गए हैं.

मंगलवार को ट्विटर पर जारी 5 पन्नों के बयान में माल्या ने कहा, 'मुझ पर नेता और मीडिया वाले आरोप लगा रहे हैं कि किंगफिशर एयरलाइंस को दिए गए 9,000 करोड़ रुपए चुराकर भाग गया. लेकिन हकीकत यही है कि मैंने बैंकों का कर्ज चुकाने की पहले भी कोशिश की और आगे भी करता रहूंगा.'

माल्या फिलहाल ब्रिटेन से भारत प्रत्यर्पित किए जाने के खिलाफ अदालती लड़ाई लड़ रहे हैं. माल्या ने कहा कि उनके खिलाफ कई अपुष्ट मामलों के साथ CBI और ED ने चार्जशीट दाखिल की हैं. माल्या ने कहा, 'ईडी ने मुझसे जुड़ी संपत्तियां अटैच कर लीं. PMLA एक्ट के तहत मेरी ग्रुप कंपनियों और मेरे परिजनों के स्वामित्व या उनके नियंत्रण वाली कंपनियों की नीलामी के लिए 13,900 करोड़ रुपए की कीमत तय की है.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi