S M L

ICICI बैंक-वीडियोकॉन: लोन मामले में सरकार हुई सख्त

आईसीआईसीआई बैंक और वीडियोकॉन ग्रुप के एक निवेशक अरविंद गुप्ता ने पिछले दिनों ही आरोप लगाया था कि आईसीआईसीआई बैंक के सीईओ चंदा कोचर ने वीडियोकॉन को 4 हजार करोड़ रुपए लोन मंजूर करने के बदले गलत तरीके से निजी लाभ लिया है

Ravishankar Singh Ravishankar Singh Updated On: Apr 05, 2018 09:45 PM IST

0
ICICI बैंक-वीडियोकॉन: लोन मामले में सरकार हुई सख्त

आईसीआईसीआई बैंक और वीडियोकॉन मामले की सरगर्मी हर दिन बढ़ती जा रही है. गुरुवार को सीबीआई ने मुंबई एयरपोर्ट से चंदा कोचर के देवर राजीव कोचर को गिरफ्तार कर लिया. राजीव कोचर, चंदा कोचर के पति दीपक कोचर के भाई हैं.

कौन हैं राजीव कोचर?

राजीव कोचर सिंगापुर की एक फाइनेंशियल कंपनी अविस्टा एडवाइजरी के मालिक हैं. सीबीआई सूत्रों का कहना है कि राजीव कोचर देश से बाहर जाने के फिराक में थे तभी सीबीआई ने उनको हिरासत में लिया है.

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि राजीव कोचर किसी दक्षिणपूर्वी एशियाई देश के लिए उड़ाने भरने वाले थे कि इमिग्रेशन अथॉरिटीज ने उन्हें रोक लिया. सीबीआई के अधिकारी राजीव कोचर से लगातार पूछताछ कर रहे हैं. हो सकता है कि कुछ ही देर में सीबीआई राजीव कोचर को गिरफ्तारी दिखा दे.

सीबीआई के मुताबिक राजीव कोचर के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी था. सीबीआई आईसीआईसीआई बैंक की प्रमुख चंदा कोचर और वीडियोकॉन के मालिक वेणुगोपाल धूत के खिलाफ प्रीलिमरी इंक्वायरी का केस दर्ज कर चुकी है.

क्या करती थी राजीव कोचर की कंपनी?

राजीव कोचर की कंपनी अविस्टा एडवाइजरी बैंक लोन की रीस्ट्रक्चरिंग का काम करती है. इस कंपनी ने पिछले कुछ सालों में भारत की कई कंपनियों का लोन रीस्ट्रक्चर करने का जिम्मा मिला था. सीबीआई इस कंपनी को लोन रिस्ट्रक्चर का काम दिलाने में चंदा कोचर की भूमिका की जांच करना चाह रही है.

अविस्टा एडवाइजरी ने भारत में पिछले कुछ सालों में 1.7 करोड़ अरब डॉलर के लोन को रीस्ट्रक्चर करवाया है. ये सभी कंपनियां आईसीआईसीआई बैंक की कर्जदार हैं. हालांकि इस मामले में आईसीआईसीआई बैंक का कहना है कि किसी सेवा के लिए अविस्टा एडवाइजरी ग्रुप से कोई लेना-देना नहीं है.

अविस्टा एडवाइजरी ने जो जानकारी दी है उसके मुताबिक कंपनी ने जयप्रकाश पावर वेंचर्स, जेएसएल, वीडियोकॉन ग्रुप, जीटीएल इंफ्रास्ट्रक्चर और सुजलॉन के डेट रीस्ट्रक्चरिंग में सलाहकार की भूमिका निभाई है.

बढ़ सकती हैं मुश्किलें 

राजीव कोचर की सीबीआई के शिकंजे में आने से आईसीआईसीआई बैंक की सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर चंदा कोचर की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. ऐसी खबर मिल रही है कि चंदा कोचर के पति दीपक कोचर को भी सीबीआई जल्द ही पूछताछ के लिए बुला सकती है. सीबीआई अपने जांच में यह पता लगा रही है कि आईसीआईसीआई बैंक के कुछ अधिकारियों को लोन के बदले कहीं मोटी रकम दो नहीं दी गई थी.

बैंकों के जिस कंसोर्शियम या समूह ने वीडियोकॉन को कर्ज देने की अनुशंसा की थी, उसकी अगुवाई एसबीआई कर रहा था. इस समूह में आईसीआईसीआई बैंक भी शामिल था.

साल 2012 में इस समूह के सदस्यों ने विडियोकॉन को लगभग 4 हजार करोड़ रुपए देने का कर्ज मंजूर किया. बाद में कुछ लोन बैंकों के लिए नॉन-परफॉर्मिंग एसेट्स की कैटेगरी में चले गए.

आईसीआईसीआई बैंक और वीडियोकॉन ग्रुप के एक निवेशक अरविंद गुप्ता ने पिछले दिनों ही आरोप लगाया था कि आईसीआईसीआई बैंक के सीईओ चंदा कोचर ने वीडियोकॉन को 4 हजार करोड़ रुपए लोन मंजूर करने के बदले गलत तरीके से निजी लाभ लिया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गोल्डन गर्ल मनिका बत्रा और उनके कोच संदीप से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi