S M L

बजट 2018: पेट्रोल और डीजल सस्ता कर सकती है सरकार

इस साल बजट में एक्साइज ड्यूटी घटाने का फैसला कर सकते हैं फाइनेंस मिनिस्टर

Updated On: Jan 28, 2018 09:11 PM IST

FP Staff

0
बजट 2018: पेट्रोल और डीजल सस्ता कर सकती है सरकार

पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगतार तेजी से आम आदमी परेशान हैं. अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का भाव 69.49 डॉलर प्रति बैरल है. महंगाई से परेशान लोगों को बजट में राहत मिलने की उम्मीद है. मुमकिन है कि इस साल बजट में फाइनेंस मिनिस्टर अरुण जेटली पेट्रोल और डीजल के उत्पाद शुल्क में कटौती कर सकती है.

बजट की तमाम खबरों के लिए यहां क्लिक करें

सूत्रों के मुताबिक, पेट्रोलियम मिनिस्टर ने प्री-बजट मेमोरैंडम के तौर पर  एक्साइज ड्यूटी में कटौती करने का प्रस्ताव फाइनेंस मिनिस्टर को भेजा है. पेट्रोलियम सेक्रेटरी के डी त्रिपाठी ने सोमवार को कहा था कि मिनिस्ट्री ने अपना सुझाव भेज दिया है. बुधवार को दिल्ली में पेट्रोल का भाव 63.36 रुपए प्रति लीटर रहा. जबकि डीजल का भाव 72.43 रुपए प्रति लीटर है.

दिसंबर मध्य से अभी तक पेट्रोल की कीमतों में 3.31 रुपए प्रति लीटर बढ़ चुका है. ऑयल कंपनियों ने मंगलवार को पेट्रोल की कीमतों में 15 पैसा प्रति लीटर और डीजल के भाव में 19 पैसा प्रति लीटर का इजाफा किया था.

क्यों बढ़ रही हैं कीमतें 

डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी की पहली वजह ट्रैक्टर और सिंचाई के लिए पंप सेट का बहुत ज्यादा इस्तेमाल है. केंद्र सरकार अभी पेट्रोल पर 19.48 रुपए प्रति लीटर और पेट्रोल पर 15.33 रुपए प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी लगाता है. दिल्ली में पेट्रोल पर 15.39 रुपए प्रति लीटर वैट है जबकि डीजल पर वैट 9.32 रुपए है. बीजेपी की अगुवाई वाली एनडीए सरकार ने नवंबर 2014 से जनवरी 2016 के बीच 9 बार एक्साइज ड्यूटी बढ़ाया है. इन 15 महीनों में पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी 11.77 रुपए प्रति लीटर बढ़ाया गया था जबकि डीजल का एक्साइज ड्यूटी बढ़कर 13.47 रुपए प्रति लीटर तक पहुंच गया है. इससे 2016-17 के दौरान सरकार को  2,42,000 करोड़ रेवेन्यू मिला था. जबकि 2014-15 के दौरान यह सिर्फ 99,000 करोड़ रुपए था.

दरअसल 2014 से 2016 के बीच क्रूड का भाव कम था, जिसका फायदा उठाने के लिए सरकार ने एक्साइज ड्यूटी बढ़ा दिया था. यही वजह थी कि क्रूड का प्राइस 45 डॉलर प्रति बैरल तक आने के बावजूद डोमेस्टिक मार्केट में पेट्रोल और डीजल के भाव में कुछ खास कमी नहीं आई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi