S M L

Uber Air: ट्रैफिक में फंसने का डर है तो रोज-रोज उड़ने की तैयारी कर लीजिए

उबर ट्रांसपोर्ट कुछ सालों में एयर मोबिलिटी की सेवा शुरू करने की दिशा में काम कर रहा है. इस नई सुविधा का नाम उबर एयर रखा गया है

Updated On: Aug 30, 2018 04:54 PM IST

FP Staff

0
Uber Air: ट्रैफिक में फंसने का डर है तो रोज-रोज उड़ने की तैयारी कर लीजिए
Loading...

अमेरिका के दो शहरों डलास और लॉस एंजिलिस में अपने फ्लाइंग टैक्सी उड़ाने के लिए चुनने के बाद उबर ने पांच और शहरों को इस लिस्ट में शामिल किया है और इनमें भारत के दो शहर भी हैं. दिल्ली और मुंबई में अगले कुछ सालों में एयर मोबिलिटी शुरू हो चुकी है. गुरुवार को इन दोनों शहरों को उबर ने अपने उबर एयर प्रोजेक्ट के लिए शॉर्टलिस्ट किया है.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, उबर ट्रांसपोर्ट कुछ सालों में एयर मोबिलिटी की सेवा शुरू करने की दिशा में काम कर रहा है. इस नई सुविधा का नाम उबर एयर रखा गया है. अमेरिका के दो शहरों को चुनने के बाद उबर ने भारत, जापान, फ्रांस, ऑस्ट्रेलिया और ब्राजील को चुना है.

उबर ने 2016 में एलीवेट प्रोग्राम की घोषणा की थी. पिछले साल कंपनी ने घोषणा की कि वो 2023 तक डलास और टेक्सास के फोर्ट वर्थ और लॉस एंजिलिस में कॉमर्शियली फ्लाइंग टैक्सी की सर्विस शुरू करना चाहता है इसके लिए वो 2020 तक डिमॉन्स्ट्रेशन कर लेना चाहता है.

गुरुवार को जापान की राजधानी टोक्यो में उबर एलीवेट एशिया-पैसिफिक समिट में कंपनी की ओर से कहा गया कि कंपनी दुनिया भर में शहरी इलाकों में भीड़ बढ़ते जाने की समस्या को कम करने के लिए कारों से आगे की सोचना चाहती है. उबर के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर बार्नी हार्डफोर्ड ने कहा कि कंपनी शहरों में रह रहे लोगों की जिंदगी आसान बनाने के लिए अब आसमान की ओर देख रही है. उन्होंने इसे अर्बन ट्रांसपोर्टेशन की दिशा में सबसे बोल्ड कदम बताया.

उबर एलीवेट ने दिल्ली, मुंबई, टोक्यो, सोल, सिडनी और ताईपेई के लिए एयर फ्लाइट्स के संभावित रूट को डिजाइन भी कर लिया है. समिट में बताया गया कि दिल्ली-एनसीआर में उबर एयर रोज लोगों के दो घंटे बचा सकता है.

उबर 15 से 100 किलोमीटर की इस फ्लाइंग ट्रिप के लिए एयरक्राफ्ट और इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलप करने के लिए कई कंपनियों के साथ काम कर रही है. बार्नी हार्डफोर्ड ने बताया कि कंपनी बिल्कुल नए तरीके के एयरक्राफ्ट पर काम कर रही है. जो इलेक्ट्रिक होगा, जो वर्टिकली टेक ऑफ और लैंड कर सके और जो 300 किमी प्रति घंटे पर उड़ सके. उन्होंने कहा कि ये एयरक्राफ्ट गजब की स्पीड और रिलायबिलिटी देगा.

ये एयरक्राफ्ट 1000-2000 फीट की ऊंचाई पर उड़ सकेंगे और एक बार चार्ज करने के बाद 60 मील तक का सफर तय कर पाएंगे. अच्छी बात ये है कि इनसे रोज यात्रा करना कार ओनरशिप से ज्यादा सस्ता पड़ेगा.

(फीचर्ड इमेज उबर की वेबसाइट से साभार)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi