S M L

अब पिछले नहीं आगे के काम पर कर्मचारियों का वेतन बढ़ाएगी ये कंपनी!

आईबीएम का दावा है कि आर्टिफिशियल इंटिलिजेंस पर आधारित वॉटसन की रेटिंग की एचआर एक्सपर्ट्स द्वारा किए गए रेटिंग की तुलना में 96 फीसदी अधिक सटीक हैं

Updated On: Jul 09, 2018 08:10 PM IST

FP Staff

0
अब पिछले नहीं आगे के काम पर कर्मचारियों का वेतन बढ़ाएगी ये कंपनी!

अब कोई भी कंपनी अपने कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी उनके पिछले साल के प्रदर्शन को देखते हुए करती है. लेकिन आईबीएम ने फैसला किया है कि वो अपने कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी उनके आने वाले अगले साल के कामकाज के आधार पर करेगी. यानी एक साल पहले ही आईबीएम अपने कर्मचारियों का अप्प्रेजल करेगी. अब आप यह सोच रहे होगें कि कोई भी कंपनी अाने वाले साल में कैसे कर्मचारियों के प्रदर्शन का मूल्यांकन पहले ही कर लेगी? यानी आईबीएम अपने कर्मचारियों के प्रदर्शन की भविष्यवाणी कैसे करेगी? इसका जवाब सिर्फ एक शब्द में है- वॉटसन की सहायता से.

दरअसल वॉटसन एक प्रकार का आर्टिफिशियल इंटिलिजेंस एनालिटिक्स है. वॉटसन कर्मचारियों के अनुभव को देखता है और यह अनुमान लगाता है कि भविष्य में वो अपने संभावित क्षमताओं और हुनर को आईबीएम में भविष्य में काम करने में कितना अधिक विकसित कर सकता है.

वॉटसन बारीकी से आईबीएम के इंटरनल ट्रेनिंग सिस्टम का भी अध्ययन करेगी और यह पता लगाएगी कि कोई कर्मचारी कितनी जल्दी कोई नई चीज सीख रहा है. इसके बाद कंपनी के मैनेजर वॉटसन की रेटिंग के अनुसार कर्मचारियों के प्रमोशन, बोनस और वेतन के बारे में फैसला लेंगे.

कंपनी के मुताबिक वॉटसन की रेटिंग की एचआर एक्सपर्ट्स द्वारा किए गए रेटिंग की तुलना में 96 फीसदी अधिक सटीक हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता
Firstpost Hindi