S M L

राज्य के अंदर माल की आवाजाही के लिए छह राज्यों में ई-वे बिल प्रणाली कल से

सरकार ने एक राज्य से दूसरे राज्य के बीच 50,000 रुपए से अधिक के माल और राज्य के भीतर माल परिवहन के आवाजाही के लिए इलेक्ट्रॉनिक-वे या ई-वे बिल प्रणाली शुरू की थी

Bhasha Updated On: May 31, 2018 09:33 PM IST

0
राज्य के अंदर माल की आवाजाही के लिए छह राज्यों में ई-वे बिल प्रणाली कल से

राज्य के भीतर माल की आवाजाही के लिए ई-वे बिल प्रणाली शुक्रवार से पंजाब और ओडिशा समेत छह राज्यों में लागू हो जाएगी. जीएसटी नेटवर्क (जीएसटीएन) ने बयान में कहा कि छह राज्यों- मिजोरम, ओडिशा, पंजाब, छत्तीसगढ़, गोवा और जम्मू-कश्मीर में एक जून से राज्य के अंदर माल के परिवहन के लिए ई-वे बिल प्रणाली लागू होने जा रही है. इसके अलावा, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल में ई-वे बिल प्रणाली क्रमश: 2 और 3 जून से लागू होगी.

केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआईसी) पहले ही कह चुका है कि राज्य के भीतर वस्तुओं की आवाजाही के लिए ई-वे बिल 3 जून से अनिवार्य होगा.

अभी तक 27 राज्य और केंद्रशासित प्रदेश इस व्यवस्था को लागू कर चुके हैं. अप्रैल के पहले सप्ताह में आठ लाख ई-वे बिल निकाले गए थे, 30 मई तक इन बिलों की संख्या बढ़कर औसतन 16.8 लाख हो गई है. जीएसटीएन ने कहा कि ई-वे पोर्टल पर अब तक कुल 6.43 करोड़ ई-वे बिल निकाले जा चुके हैं.

सरकार ने एक राज्य से दूसरे राज्य के बीच 50,000 रुपए से अधिक के माल की आवाजाही के लिए इलेक्ट्रॉनिक-वे या ई-वे बिल प्रणाली शुरू की थी. वहीं, राज्य के भीतर माल परिवहन के लिए 15 अप्रैल से ई-वे बिल को शुरू किया गया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi