S M L

गिरावट का सिलसिला जारी, ऑटो सेक्टर में कमजोरी से शेयर बाजार टूटा

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि वैश्विक बाजारों में तेजी के बावजूद स्थानीय बाजारों में बिकवाली दबाव कायम रहा.

Updated On: Feb 11, 2019 05:39 PM IST

FP Staff

0
गिरावट का सिलसिला जारी, ऑटो सेक्टर में कमजोरी से शेयर बाजार टूटा

बंबई शेयर बाजार में सोमवार को गिरावट का सिलसिला जारी रहा. मिले जुले कारोबार में सेंसेक्स 151 अंक और निफ्टी 10900 अंक नीचे बंद हुआ. वैश्विक बाजारों में तेजी का असर स्थानीय बाजारों पर नहीं दिखा. ब्रोकरों ने कहा कि कुछ ऑटो कंपनियों के तिमाही वित्तीय परिणामों की निराशा इस क्षेत्र क्षेत्र के शेयरों की बिकवाली तेज कर दी थी.

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 36588.41 से 36300.48 अंक के दायरे में घूमने के बाद आखिर में 151.45 अंक या 0.41 प्रतिशत के नुकसान से 36395.03 अंक पर बंद हुआ. इससे पिछले दो कारोबारी सत्रों में सेंसेक्स 429 अंक टूटा था. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 49.80 अंक यानी 0.50 प्रतिशत के नुकसान से 10888.80 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान निफ्टी 10857.10 अंक के निचले स्तर तक आया और 10,930.90 अंक के ऊपरी स्तर तक गया.

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि वैश्विक बाजारों में तेजी के बावजूद स्थानीय बाजारों में बिकवाली दबाव कायम रहा. आने वाले आम चुनाव की वजह से निवेशक जोखिम उठाने से कतरा रहे हैं. उन्होंने कहा कि कंपनियों के तिमाही नतीजों से निवेशक हैरान नहीं हुए हैं और आमदनी और घटने की आशंका से बाजार धारणा प्रभावित हुई है. नायर ने कहा कि वैश्विक व्यापार करार और बढ़ोतरी के नीचे आने की आशंका से भी बाजार प्रभावित हुआ. निवेशकों की निगाह अब मंगलवार को आने वाले उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति और औद्योगिक उत्पादन के आंकड़ों पर होगी.

ऑटो कंपनियों के शेयर नुकसान में रहे. सबसे अधिक नुकसान में महिंद्रा एंड महिंद्रा का शेयर रहा जो पांच प्रतिशत टूटा. कंपनी ने दिसंबर, 2018 की तिमाही के नतीजे घोषित किए थे, जिसके मुताबिक उसका एकल शुद्ध लाभ 11.44 प्रतिशत घटकर 1,076.81 करोड़ रुपए पर आ गया. इस बीच जनवरी में लगातार तीसरे महीने ऑटो कंपनियों की बिक्री घटी. दूसरी कंपनियों में ओएनजीसी, बजाज फाइनेंस, रिलायंस, एसबीआई, हीरो मोटोकॉर्प, आईसीआईसीआई बैंक, एलएंडटी, वेदांता, यस बैंक और एक्सिस बैंक के शेयर 2.54 फीसदी तक टूट गए.

वहीं टाटा स्टील का शेयर 2.31 फीसदी चढ़ गया. कंपनी का दिसंबर 2018 को समाप्त तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 54.33 फीसदी बढ़कर 1,753.07 करोड़ रुपए पर पहुंच गया. पावरग्रिड, एचसीएल टेक, कोटक बैंक और मारुति का शेयर 1.36 प्रतिशत तक चढ़ गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi