S M L

रुपए की चिंता में सेंसेक्स में लगातार चौथे कारोबारी सत्र में गिरावट, 333 अंक टूटा

बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स सोमवार को अपनी शुरुआती बढ़त को गंवा कर उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में 333 अंक टूट गया.

Updated On: Sep 03, 2018 07:38 PM IST

Bhasha

0
रुपए की चिंता में सेंसेक्स में लगातार चौथे कारोबारी सत्र में गिरावट, 333 अंक टूटा

बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स सोमवार को अपनी शुरुआती बढ़त को गंवा कर उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में 333 अंक टूट गया. यह लगातार चौथा कारोबारी सत्र रहा जबकि सेंसेक्स में गिरावट आई. रुपए में लगातार गिरावट, कच्चे तेल के बढ़ते दाम और वैश्विक व्यापार युद्ध को लेकर चिंता से यहां बाजार में कमजोरी का रुख बना हुआ है.

एफएमसीजी, रीयल्टी, बिजली और बैंक शेयरों में बिकवाली से कारोबार के अंतिम घंटे में बाजार नीचे आ गया. सोमवार को रुपया 71.21 प्रति डॉलर के अपने नए सर्वकालिक निचले स्तर पर आ गया. इससे वृहद आर्थिक मोर्चे पर चिंता और बढ़ी है.

इसके अलावा अगस्त में लगातार दूसरे महीने देश के विनिर्माण क्षेत्र की गतिविधियां सुस्त पड़ी हैं. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले सप्ताह कहा था कि वह चीन पर नए शुल्क लगाएंगे. इसके बाद निवेशकों की निगाह वैश्विक व्यापार युद्ध पर टिकी हैं.

अमेरिका के ईरान पर प्रतिबंधों से कच्चे तेल की आपूर्ति प्रभावित होने की आशंका बनी हुई है. इससे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में तेजी आई है.

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, 'चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर उच्चस्तर पर रही है. इससे बाजार सोमवार को मजबूत रुख के साथ खुला लेकिन जल्द ही व्यापार युद्ध तथा कच्चे तेल की कीमतों में तेजी से बिकवाली का सिलसिला चला. अन्य उभरते बाजारों की मुद्राओं में कमजोर रुख कायम है. इसकी वजह से भी निवेशकों ने बाजार से दूरी बनाई है.'

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में 289 अंक की छलांग के साथ 38,934.35 अंक के उच्चस्तर पर पहुंच गया था. लेकिन कारोबार के दूसरे पहर में चले बिकवाली के सिलसिले से सेंसेक्स नीचे आया. एक समय यह 38,270.01 अंक के निचले स्तर तक आ गया. अगस्त महीने में विनिर्माण पीएमआई में सुस्ती की वजह से बाजार नीचे आया.

अंत में सेंसेक्स 332.55 अंक या 0.86 प्रतिशत के नुकसान से 38,312.52 अंक पर बंद हुआ. यह इसका एक सप्ताह का निचला स्तर है. इससे पिछले तीन सत्रों में सेंसेक्स 251.56 अंक टूटा था.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 98.15 अंक या 0.84 प्रतिशत के नुकसान से 11,582.35 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह 11,567.40 से 11,751.80 अंक के दायरे में रहा. दो अगस्त से सेंसेक्स और निफ्टी में यह सबसे बड़ी गिरावट है. उस दिन सेंसेक्स 356.46 अंक और निफ्टी 101.50 अंक टूटा था.

अगस्त में लगातार दूसरे महीने विनिर्माण क्षेत्र की गतिविधियां सुस्त पड़ी हैं. निक्की भारत विनिर्माण खरीद प्रबंधक सूचकांक अगस्त में घटकर 51.7 पर आ गया, जो जुलाई में 52.3 पर था.

चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 8.2 प्रतिशत रही है. विनिर्माण और कृषि क्षेत्र के शानदार प्रदर्शन की वजह से जीडीपी की वृद्धि दर उच्चस्तर पर पहुंची है. यह जीडीपी की वृद्धि दर का दो साल का उच्चस्तर है.

0

अन्य बड़ी खबरें