S M L

RBI ने नहीं बदली मौद्रिक नीति, रेपो रेट 6 प्रतिशत पर बरकरार

भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति ने प्रमुख नीतिगत ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है

Updated On: Apr 05, 2018 05:27 PM IST

FP Staff

0
RBI ने नहीं बदली मौद्रिक नीति, रेपो रेट 6 प्रतिशत पर बरकरार

आम बजट के बाद पहली मौद्रिक नीति समीक्षा में भारतीय रिजर्व बैंक ने कोई बदलाव नहीं किया है. उम्मीद थी कि मौद्रिक नीति की समीक्षा बैठक में बैंक की समिति प्रमुख नीतिगत ब्याज दरों में बदलाव करेगी. भारत के केंद्रीय बैंक की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) रेपो रेट को 6 प्रतिशत पर बरकरार रखा है. रिवर्स रेपो रेट 5.75 प्रतिशत, कैश रिजर्व रेश्यो 4 प्रतिशत और एसएलआर को 19.5 प्रतिशत पर कायम रखा गया है.

तात्कालिक जरूरत के लिए जिस दर पर रिजर्व बैंक अन्य बैंकों को धन मुहैया कराता है उसे रेपो रेट कहते हैं. रिवर्स रेपो रेट वह होता है जिस पर बैंकों को अपनी जमा राशि पर रिजर्व बैंक से ब्याज मिलता है.

रिजर्व बैंक ने मौद्रिक समीक्षा नीति पेश करते हुए मौजूदा वित्त वर्ष में महंगाई दर को घटा दिया है. पहले मंहगाई दर 5.1 प्रतिशत से 5.6 प्रतिशत रहने का अनुमान था जिसे अब 4.7 प्रतिशत से 5.1 प्रतिशत कर दिया गया है.

डिजिटल करेंसी ला सकता है आरबीआई

मौद्रिक नीति पेश करने के लिए हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में आरबीआई ने यह भी कहा है कि डिजिटल पेमेंट जिस तरह से बढ़ रहा है, ऐसे में इस क्षेत्र में वर्चुअल करेंसी के महत्व को आप नहीं नकार सकते. आरबीआई भी अब डिजिटल करेंसी लाने पर विचार कर रहा है. इसके लिए समिति भी बना दी गई है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi