S M L

3 लाख करोड़ से ज्यादा के लोन की रिकवरी नहीं कर पाए 21 सरकारी बैंक: रिजर्व बैंक

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में 2018 मार्च के आखिर तक वसूली दर 14.2 फीसदी रही

Updated On: Oct 01, 2018 12:13 PM IST

FP Staff

0
3 लाख करोड़ से ज्यादा के लोन की रिकवरी नहीं कर पाए 21 सरकारी बैंक: रिजर्व बैंक

पब्लिक सेक्टर बैंकों पर आरबीआई का चौंकाने वाला डाटा सामने आया है. आरबीआई के मुताबिक देश के 21 सरकारी बैंकों ने 3 लाख 16 हजार 5 सौ करोड़ रुपए का लोन बट्टे खाते(राइट-ऑफ) में डाल दिया.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक डाटा से सामने आया है कि इस दौरान सरकारी बैंक केवल 44,900 करोड़ रुपए ही वसूल पाए. जोकि बट्टे खाते में डाली गई रकम से 14 फीसदी से भी कम है. अगर वसूली दर की बात करें तो संसद की वित्तीय समिति के सामने केंद्रीय बैंक ने जवाब पेश किया है. जिसके मुताबिक सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में 2018 मार्च के आखिर तक वसूली दर 14.2 फीसदी रही.

यह निजी बैंकों के 5 फीसदी की दर से 3 गुना है. बता दें कि देश के बैंकों का कुल एनपीए का 86 फीसदी बैड लोन इन्हीं बैंकों से दिया गया है. गौरतलब है कि सरकार लगातार बैंकिंग में हो रही समस्याओं को दूर करने के लिए तमाम कोशिशें कर रही है लेकिन यह काफी नहीं है.

2014 के बाद से एनपीए में लगातार बढ़ोतरी हुई है. वहीं अगर 2004 से 2014 तक की गणना करें तो पाएंगे कि 1.9 लाख करोड़ रुपए के करीब बैड लोन को बट्टे खाते में डाला गया और अगर 2013 से 2015 तक की बात करें तो 90 हजार करोड़ रुपया बट्टे खाते में गया.

बता दें कि 2014-15 में एनपीए 4.62 फीसदी था जोकि 2015-16 में बढ़कर 7.79 हो गया. वहीं 2017 में इसमें तेजी से बढ़ोतरी हुई और यह 10.41 फीसदी पहुंच गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi