S M L

RBI सालाना करता है जोखिम आधारित पर्यवेक्षण: पीएनबी

इससे पहले एक रिपोर्ट आई थी कि रिजर्व बैंक ने पीएनबी का 2009 के बाद से ऑडिट नहीं किया है, इसी के बाद बैंक की तरफ से यह स्पष्टीकरण आया है

Updated On: Mar 01, 2018 04:01 PM IST

FP Staff

0
RBI सालाना करता है जोखिम आधारित पर्यवेक्षण: पीएनबी

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने इस बात से इनकार किया है कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने मुंबई में उसकी ब्रैडी हाउस शाखा का कोई ऑडिट नहीं किया है जो नीरव मोदी ऋण घोटाला कांड को लेकर सुर्खियों में है. पीएनबी का कहना है कि आरबीआई सालानाा आधार पर उसका जोखिम आधारित पर्यवेक्षण करता रहा है.

हीरा कारोबार नीरव मोदी और उसके रिश्तेदार मेहुल चौकसी पर आरोप है कि उन्होंने अधिकारियों के साथ मिलीभगत कर विदेशों में भारतीय बैंकों की शाखाओं से आयात ऋण प्राप्त करने के लिए फर्जी गारंटी पत्र (लेटर ऑफ अंडरटेकिंग) प्राप्त किए. एलओयू के जिरए विदेशों में स्थित भारतीय बैंक की शाखाओं से ऋण प्राप्त कर पीएनबी में करीब 12,700 करोड़ रुपए की कथित धोखाधड़ी को अंजाम दिया.

पीएनबी ने एक बयान में कहा कि यह स्पष्ट होना चाहिए कि आरबीआई सालाना आधार पर उसका जोखिम आधारित पर्यवेक्षण करता है.

इससे पहले ये रिपोर्ट आई थी कि रिजर्व बैंक 2009 से ही पीएनबी का ऑडिट नहीं कर रहा था. उसी के बाद पीएनबी को इस मामले पर स्पष्टीकरण देना पड़ा.

एलओयू के जरिए हुए इस घोटाले के सामने आने के बाद अब रिजर्व बैंक देश के सारे सार्वजनिक बैंकों के एलओयू की जांच कर रहा है. रिजर्व बैंक की कोशिश है कि अब एलओयू के जरिए कोई और बैंकों को चूना न लगाने पाए.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi