Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

रेलवे खोजेगा राजधानी एक्सप्रेस के 24 घंटे में एक फेरे की संभावना

रेलवे द्वारा आयोजित सम्मेलन में यह जानने की कोशिश की जाएगी कि क्या देश की सबसे प्रीमियम रेलगाड़ियों में से एक राजधानी एक्सप्रेस रोजाना अपनी यात्रा शुरू कर गंतव्य से 24 घंटे में वापस आ सकती है या नहीं

Bhasha Updated On: Dec 15, 2017 08:42 PM IST

0
रेलवे खोजेगा राजधानी एक्सप्रेस के 24 घंटे में एक फेरे की संभावना

रेल मंत्रालय इस बात की संभावना का पता लगा रहा है कि क्या राजधानी एक्सप्रेस गाड़ियां क्या 24 घंटे में एक फेरा पूरा कर सकती हैं जिसमें वापसी यात्रा से पहले के आधे घंटे का समय रैक के निरीक्षण के लिए रखा जा सकता है. इसका उद्देश्य है कि इन गाड़ियों के प्रीमियम श्रेणी के रैक का अधिक से अधिक इस्तेमाल किया जा सके.

मंत्रालय रेल को देश की परिवहन और मालवहन की महत्वपूर्ण इकाई बनाने के लिए शनिवार को एक दिन का सम्मेलन आयोजित करेगा. ‘ संपर्क, समन्वय एवं संवाद’ सम्मेलन में अन्य बातों के अलावा यह जानने की कोशिश की जाएगी कि क्या देश की सबसे प्रीमियम रेलगाड़ियों में से एक राजधानी एक्सप्रेस रोजाना अपनी यात्रा शुरू कर गंतव्य से 24 घंटे में वापस आ सकती है या नहीं. इसका मकसद राजधानी एक्सप्रेस गाड़ियों के रैक का अधिकतम और उपयुक्त उपयोग सुनिश्चित करना है.

रेलमंत्री पीयूष गोयल के अलावा मंत्रालय के कई वरिष्ठ अधिकारी भी इसमें शामिल हो रहे हैं.

2022 के लिए बनेगी रूपरेखा

इस सम्मेलन का एक और मकसद रेलवे के लिए 2022 तक रूपरेखा तैयार करना है. इसमें रेलवे के ढांचा और संस्कृति में सुधार के साथ मालवहन में 2022 तक उसकी हिस्सेदारी बढ़ाकर 40% करने पर भी विचार विमर्श किया जाएगा.

इसके अलावा रेलवे कर्मचारियों में ‘खुशहाली’ को बढ़ावा देने के विषय पर भी बातचीत होगी. रेलवे के समय अनुपालन को बेहतर करने, आराम, सुरक्षा और परिचालन को दुरुस्त करने पर तो बातचीत होगी ही. साथ ही एक खरीद प्रक्रिया को तैयार करने के लिए भी विचार आमंत्रित किए जाएंगे.

रेलवे कर्मचारियों की खुशहाली के मुद्दे पर बातचीत में इस पर विचार किया जाएगा कि उन्हें किस तरह का प्रोत्साहन दिया जा सकता है जो उन्हें काम करने के लिए प्रेरित करे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi