S M L

कर्ज वसूली के लिए गांधीगीरी और जासूसों की मदद लेगा बैंक

कर्ज वसूली के लिए बैंक डिटेक्टिव एजेंसी भी हायर कर रहा है और गांधीगीरी पर भी चल रहा है

Bhasha Updated On: Apr 25, 2018 08:22 PM IST

0
कर्ज वसूली के लिए गांधीगीरी और जासूसों की मदद लेगा बैंक

पंजाब नेशनल बैंक ने लोन डिफॉल्टर्स ने निपटने का एक नया रास्ता खोज निकाला है. बैंक अपने लापता कर्जदारों का पता करने के लिए जासूसी एजेंसियां हायर करने वाला है. इसके लिए बैंक ने डिटेक्टिव एजेंसियों से एप्लिकेशन मंगाए हैं. डिटेक्टिव एजेंसियों को 5 मई तक आवेदन और जरूरी दस्तावेज जमा करने को कहा गया है.

इन एजेंसियों का काम कर्जदार की गारंटी लेने वाले लोगों, कर्जदारों के वारिस का पता लगाना है. पीएनबी देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक है. दिसंबर 2017 तक बैंक का एनपीए 57,519 करोड़ रुपए रहा, जो टोटल कर्ज का 12.11 फीसदी है.

गांधीगीरी भी अपनाएगा बैंक

कर्ज की वसूली के लिए बैंक गांधीगीरी भी करने वाला है. पंजाब नेशनल बैंक इसके तहत कर्ज नहीं लौटाने वालों के नाम सार्वजनिक करेगा. बैंक हर महीने 150 करोड़ रुपए की वसूली की कोशिश करेगी. पंजाब नेशनल बैंक को नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की धोखाधड़ी से करीब 13,000 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
कोई तो जूनून चाहिए जिंदगी के वास्ते

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi