S M L

सरकारी बैंकों ने साढ़े तीन साल में लोगों से वसूले 10,000 करोड़

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) साल 2012 तक बैंक में मिनिमम बैलेंस मेंटेन नहीं करने पर चार्ज काटता था

Updated On: Dec 22, 2018 03:35 PM IST

FP Staff

0
सरकारी बैंकों ने साढ़े तीन साल में लोगों से वसूले 10,000 करोड़

पिछले साढ़े तीन साल में स्टेट कंट्रोल बैंकों ने सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस मेंटेन न करने और एटीएम से फ्री ट्रांजेक्शन से ज्यादा ट्रांजेक्शन करने पर 10 हजार करोड़ रुपए की बड़ी रकम इकट्ठा की है. टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट में इस बात का दावा किया गया है. भारत का सबसे बड़ा बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) साल 2012 तक बैंक में मिनिमम बैलेंस मेंटेन नहीं करने पर चार्ज काटता था लेकिन साल 2012 से 31 मार्च 2016 तक कंपनी बैंक ने ये कटौती बंद कर दी. जबकि अन्य प्राइवेट बैंक ने अपनी कटौती जारी रखी.

जनधन अकाउंट में मिनिमम बैलेंस की कोई सीमा नहीं 

1 अप्रैल 2017 से एसबीआई ने ये कटौती वापस से शुरू कर दी थी. 1 अक्टूबर 2017 से एसबीआई ने मिनिमम बैलेंस की लिमिट घटा दी. बता दें कि बेसिक सेविंग डिपॉजिट अकाउंट और जनधन अकाउंट में मिनिमम बैलेंस की कोई सीमा नहीं है. पीएसयू द्वारा इकट्ठा किए गए 10 हजार करोड़ रुपए के अतिरिक्त प्राइवेट बैंकों ने भी बड़ी रकम इकट्ठा की है. रिपोर्ट के मुताबिक बैंकों ने सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस मेंटेन नहीं करने पर 6246 करोड़ रुपए इकट्ठा किए हैं जबकि एटीएम से फ्री ट्रांजेक्शन से ज्यादा ट्रांजेक्शन करने से 4145 रुपए इकट्ठा किए गए हैं. इनमें सबसे ज्यादा रकम एसबीआई ने इकट्ठा की है.

RBI ने सभी बैंकों को विभिन्न सेवाओं के लिए फिक्स चार्ज की इजाजत दी 

इस बात की जानकारी संसद में सबमिट एक रिपोर्ट से मिली है. हालांकि इस रिपोर्ट में प्राइवेट बैंक की जानकारी नहीं दी गई है. ये रिपोर्ट लोकसभा सदस्य दिब्येंदु अधिकारी द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में वित्त मंत्रालय ने दी है. मंत्रालय ने बताया कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने सभी बैंकों को अपनी विभिन्न सेवाओं के लिए फिक्स चार्ज की इजाजत दी है, जो बोर्ड द्वारा मंजूर की जाएगी.

बैंक के अपने एटीएम से किसी भी स्थान पर 5 ट्रांजेक्शन फ्री 

बता दें कि आरबीआई के दिशा निर्देश के मुताबिक मुंबई, नई दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता, बेंगलुरु और हैदराबाद में किसी भी बैंक के एटीएम से एक महीने में तीन ट्रांजेक्शन फ्री है जबकि बैंक के अपने एटीएम से किसी भी स्थान पर 5 ट्रांजेक्शन फ्री है. मंत्रालय ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि फ्री ट्रांजेक्शन की लिमिट पूरी होने के बाद यूजर्स को प्रत्येक ट्रांजेक्शन के लिए 20 रुपए जमा करने होंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi