S M L

रुपए की कमजोरी के चलते बढ़ सकते हैं टोयोटा, मर्सिडीज बेंज गाड़ियों के दाम

कंपनी ने इसी महीने कीमतों में चार प्रतिशत तक की बढ़ोत्तरी की थी, ताकि बढ़ी लागत के प्रभाव को कम किया जा सके

Updated On: Sep 23, 2018 02:00 PM IST

Bhasha

0
रुपए की कमजोरी के चलते बढ़ सकते हैं टोयोटा, मर्सिडीज बेंज गाड़ियों के दाम

लगातार कमजोर होते रुपए के चलते जापान की कार निर्माता कंपनी टोयोटा और जर्मनी की कार कंपनी मर्सिडीज-बेंज देश में अपनी कारों की कीमत में इजाफा करने पर विचार कर रही है.

डॉलर के मुकाबले रुपया कमजोर होकर 72 प्रति डॉलर के स्तर तक पहुंच गया है. इससे वाहन कंपनियों की चिंताएं बढ़ी हैं.

टोयोटा किर्लोस्कर मोटर के उप प्रबंध निदेशक एन. राजा ने भाषा से कहा, 'मौजूदा समय में हम उच्च लागत को झेल रहे हैं. हालांकि रुपए में और गिरावट के चलते आने वाले दिनों में ऊंची लागत को और संभाल पाना मुश्किल होगा. हमें इस लागत को ग्राहकों तक हस्तांतरित करना होगा और इसके लिए हमें कीमतों में इजाफा करना होगा.'

टोयोटा किर्लोस्कर, भारत के किर्लोस्कर समूह और जापान के टोयोटा समूह का संयुक्त उपक्रम है. राजा ने कहा कि कंपनी अभी भी कार के विशेष पार्ट्स  के लिए आयात पर निर्भर है. भले ही इसने पिछले कई सालों में अधिकतर पार्ट्स में स्थानीय सामान की हिस्सेदारी बढ़ायी हो.

कंपनी ने इसी महीने कीमतों में चार प्रतिशत तक की बढ़ोत्तरी की थी

टोयोटा किर्लोस्कर देश के भीतर कई तरह के वाहन बेचती है जिसमें स्थानीय तौर पर बनी हैचबैक कार इटियॉस लीवा से लेकर आयातित एसयूवी लैंड क्रूजर तक शामिल हैं. हालांकि कंपनी के निर्यात बढ़ाने के सवाल पर राजा ने कहा कि कंपनी की भविष्य की योजनाओं पर वह कोई टिप्पणी नहीं कर सकते.

मर्सिडीज-बेंज इंडिया के उपाध्यक्ष  माइकल जॉप का भी मानना है कि रुपए की गिरती हालत कंपनी के लिए चिंता का विषय है. उन्होंने कहा, 'हमने विकास के आधार पर पिछले दो से तीन माह में पहले ही कीमतों में कुछ वृद्धि लागू की है. लेकिन पिछले कुछ हफ्तों में और गिरावट देखी गई है जो कि चिंता का विषय है. ऐसे में हम इस स्थिति पर नजर रखे हुए हैं और यह समस्या और गहराती है तो कीमत बढ़ाना अपरिहार्य हो जाएगा.'

कंपनी ने इसी महीने कीमतों में चार प्रतिशत तक की बढ़ोत्तरी की थी, ताकि बढ़ी लागत के प्रभाव को कम किया जा सके. इससे पहले इसी महीने होंडा कार्स ने कहा था कि रुपए की गिरावट की वजह से उसे एक बार अपने वाहनों के दाम बढ़ाने पड़ सकते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi