S M L

जानबूझकर कर्ज नहीं चुकाने वालों का PNB में 15,354 करोड़ बकाया

देश का बैंकिंग क्षेत्र खासतौर से सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक इस समय बढ़ती एनपीए और फंसे कर्ज की समस्या से जूझ रहे हैं

Updated On: Jul 08, 2018 05:57 PM IST

Bhasha

0
जानबूझकर कर्ज नहीं चुकाने वालों का PNB में 15,354 करोड़ बकाया

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के जान बूझकर ऋण नहीं चुकाने वाले बड़े कर्जदारों का बकाया जून में 0.87% कम हुआ है. यह 30 जून तक घटकर 15,354.52 करोड़ रुपए रह गया.

बैंक के आंकड़ों के अनुसार मई अंत तक यह बकाया 15,490 करोड़ रुपए था.

जानबूझकर ऋण नहीं चुकाने वाले बड़े चूककर्ता वह हैं जिन्होंने किसी सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक से 25 लाख रुपए या उससे अधिक का ऋण लेकर चुकाया नहीं है.

वित्त वर्ष 2017-18 की समाप्ति पर बैंक के जानबूझकर कर्ज नहीं चुकाने वालों का बकाया 15,171.91 करोड़ रुपए था. वहीं 2017-18 में बैंक का एकल शुद्ध घाटा 12,282.82 करोड़ रुपए रहा जबकि 2016-17 में बैंक को 1,324.80 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हुआ था.

कुडोस केमी लिमिटेड 1301.82 करोड़, किंगफिशर एयरलाइंस 597.44 करोड़, जस इंफ्रास्ट्रक्चर 410.96 करोड़, वीएमसी सिस्टम्स 296.08 करोड़, एमबीएस ज्वैलर्स 266.17 करोड़, तुलसी एक्सटर्शन 175.41 करोड़ रुपए और अरविंद रेमेडीज 158.16 करोड़ रुपए के बकाये के साथ इन कुछ बड़े बकायेदार हैं.

अन्य कर्जदारों में आईसीएसए (इंडिया) लिमिटेड पर 134.76 करोड़ रुपए, भवानी इंडस्ट्रीज पर 106.66 करोड़, इंदु प्रोजैक्ट 102.83 करोड़ रुपए, बीबीएफ इंडस्ट्रीज पर 101 करोड़ रुपए. इन कर्जदारों ने पीएनबी से विभिन्न बैंकों के साथ समूह में कर्ज लिया था.

देश का बैंकिंग क्षेत्र खासतौर से सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक इस समय बढ़ती गैर-निष्पादित राशि (एनपीए) और फंसे कर्ज की समस्या से जूझ रहे हैं. ये बैंक कईतरह के घोटालों और धोखाधड़ी का भी शिकार हैं. दिसंबर 2017 में बैंकिंग क्षेत्र का एनपीए 8.31 लाख करोड़ रुपए तक पहुंच चुका है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi