S M L

PNB Scam: CBI ने दाखिल की चार्जशीट, सरकार ने कहा- हटाया जा रहा है आरोपी बैंक अफसरों को

सीबीआई ने नीरव और चोकसी द्वारा सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक में किए गए कथित फर्जीवाड़े के संबंध में तीन अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज की हैं

Updated On: May 14, 2018 03:55 PM IST

FP Staff

0
PNB Scam: CBI ने दाखिल की चार्जशीट, सरकार ने कहा- हटाया जा रहा है आरोपी बैंक अफसरों को

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो ( सीबीआई ) ने अरबपति आभूषण व्यापारी नीरव मोदी द्वारा पंजाब नेशनल बैंक में दो अरब डॉलर से अधिक का देश का सबसे बड़ा वित्तीय घोटाला किए जाने के मामले में सोमवार को अपना पहला आरोपपत्र दायर किया.

यह जानकारी अधिकारियों ने दी.

आरोपपत्र में पंजाब नेशनल बैंक की पूर्व प्रमुख उषा अनंतसुब्रह्मण्यन की कथित भूमिका का विस्तार से जिक्र किया गया है. वर्तमान में उषा इलाहाबाद बैंक की सीइओ और सीएमडी हैं.

मुंबई स्थित विशेष अदालत में दायर आरोपपत्र में पंजाब नेशनल बैंक ( पीएनबी) के कई अन्य शीर्ष अधिकारियों का भी नाम है.

ऊषा 2015 से 2017 तक पीएनबी की प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्याधिकारी थीं. हाल में मामले के संबंध में सीबीआई ने उनसे पूछताछ की थी.

सीबीआई ने अपने आरोपपत्र में कार्यकारी डायरेक्टर्स - केवी ब्रह्मजी राव और संजीव शरण और महाप्रबंध (अंतरराष्ट्रीय परिचालन) निहाल अहद का भी नाम लिया है.

बैंक के अधिकारी के चार्जशीट में नाम आने के बाद वित्तीय सेवा सचिव राजीव कुमार ने कहा कि हमने आज पीएनबी और इलाहाबाद बैंक के डायरेक्टर्स को यह निर्देश दिया है कि जो भी इस केस में आरोपी हैं उनके सभी अधिकार वापस से लिए जाएं.

वित्तीय सेवा सचिव राजीव कुमार ने कहा कि हमने पंजाब नेशनल बैंक के 3 बोर्ड लेवल के अफसरों और 2 ईडी अफसरों और इलाहाबाद बैंक के एक एमडी को हटाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है.

राजीव कुमार ने बताया कि ने बताया कि इलाहाबाद बैंक ने बोर्ड मीटिंग बुलाई है और इसके बाद वो सीबीआई चार्जशीट में आरोपी एमडी के अधिकारों को खत्म करने का फैसला करेंगे.

सीबीआई के अधिकारियों ने बताया कि एजेंसी ने नीरव मोदी , उसके भाई निशाल मोदी तथा उसकी कंपनी में कार्यकारी के रूप में कार्यरत सुभाष परब की भूमिका का विस्तार से जिक्र किया है.

आरोपपत्र मूल रूप से पहली प्राथमिकी से संबंधित है जो डायमंड आर यू . एस , सोलर एक्सपोर्ट्स और स्टेलर डायमंड्स को 6,000 करोड़ रुपए से अधिक के गारंटी पत्र जारी करने से संबंधित फर्जीवाड़े के सिलसिले में दर्ज की गई थी.

एजेंसी ने इस आरोपपत्र में मेहुल चोकसी की भूमिका का विस्तार से जिक्र नहीं किया है. इस बारे में एजेंसी तब विस्तार से जिक्र कर सकती है जब वह गीतांजलि समूह से जुड़े मामले में पूरक आरोपपत्र दायर करेगी.

सीबीआई ने नीरव और चोकसी द्वारा सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक में किए गए कथित फर्जीवाड़े के संबंध में तीन अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज की हैं.

पीएनबी द्वारा सीबीआई से शिकायत किए जाने से पहले ही नीरव और चोकसी देश छोड़कर भाग गए थे.

(भाषा से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi