विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

पीएमआई: सेवा गतिविधियों में अक्तूबर में लगातार दूसरे महीने सुधार

सर्वे में कहा गया है कि विशेषज्ञ कारोबारी विश्वास को जीएसटी से आने वाले समय में होने वाले लाभ से जोड़ रहे हैं

Bhasha Updated On: Nov 03, 2017 04:17 PM IST

0
पीएमआई: सेवा गतिविधियों में अक्तूबर में लगातार दूसरे महीने सुधार

मांग की स्थिति में सुधार और नए ऑर्डर बढ़ने से सेवा क्षेत्र की गतिविधियों में अक्तूबर में लगातार दूसरे महीने सुधार रहा. एक मासिक सर्वे के अनुसार जून के बाद नए ऑर्डर में सर्वाधिक तेजी से वृद्धि दर्ज की गई है.

निक्केई इंडिया सर्विसेज पीएमआई (परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स) व्यापार गतिविधियां अक्तूबर में 50.7 रही. यह क्षेत्र में हल्की वृद्धि का संकेत है क्योंकि यह दीर्घकालीन श्रृंखला औसत 54.7 से कम बना हुआ है.

पीएमआई के तहत 50 से अधिक का मतलब विस्तार और उससे कम अंक संकुचन को बताता है.

आईएचएस मार्केट में अर्थशास्त्री और रिपोर्ट तैयार करने वाली आशना दोधिया ने कहा, ‘सेवा क्षेत्र में जून के बाद नए कारोबार में तीव्र वृद्धि हुई है...’ उत्पादन जरूरतों को पूरा करने के लिए सेवा प्रदाताओं ने लगातार दूसरे महीने अधिक लोगों को नियुक्त किया. लेकिन रोजगार सृजन की दर सितंबर से धीमी है.

व्यापार विश्वास की दर सबसे कम

इससे पहले, बुधवार को विनिर्माण क्षेत्र के लिए पीएमआई जारी किया गया था. उसके अनुसार विनिार्मण क्षेत्र की गतिविधियों की रफ्तार धीमी हुई हैं. निक्केई कंपोजिट आउटपुट सूचकांक अक्तूबर में 51.3 रहा जो सितंबर में 51.1 था. यह मद्धिम दर से वृद्धि को बताता है.

हालांकि सेवा प्रदाताओं ने अगले 12 महीनों के लिए गतिविधियों को लेकर परिदृश्य सकारात्मक बताया है लेकिन व्यापार विश्वास का स्तर जून के बाद सबसे कम है.

सर्वे में कहा गया है कि विशेषज्ञ कारोबारी विश्वास को जीएसटी से आने वाले समय में होने वाले लाभ से जोड़ रहे हैं. आशना ने कहा, ‘कंपोजिट पीएमआई जून के बाद सर्वाधिक रहने को देखते हुए आईएचएस मार्किट का अनुमान है कि सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 2017-18 में 6.8 प्रतिशत वृद्धि होगी.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi