S M L

विधानसभा चुनाव के नतीजे आए नहीं कि बढ़ने लगे तेल के दाम, 2 महीने बाद बढ़ी पेट्रोल की कीमत

चुनावों के दौरान हमेशा से दी जाती रही है पेट्रोल-डीजल की कीमतों में राहत

Updated On: Dec 13, 2018 01:19 PM IST

FP Staff

0
विधानसभा चुनाव के नतीजे आए नहीं कि बढ़ने लगे तेल के दाम, 2 महीने बाद बढ़ी पेट्रोल की कीमत

5 राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजे आए नहीं कि पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने लगे. करीब दो महीनों बाद आज पहला मौका आया जब पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े. बीते दो महीनों से पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार गिरावट देखी जा रही थी. एक समय 80 रुपए प्रति लीटर के पार चले गए पेट्रोल की कीमत 70 रुपए के आस पास हो गई, लेकिन चुनावों के परिणाम घोषित होने के बाद आम जनता को मिली यह राहत भी खत्म होती नजर आ रही है.

गुरुवार को पेट्रोल के दामों में दोबारा वृद्धि दर्ज की गई है. पेट्रोल की कीमतों में 9 पैसे प्रति लीटर की बढ़त होने के बाद यह दिल्ली में 70.29 रुपए प्रति लीटर के दर पर पहुंच गया है. हालांकि डीजल की कीमतों में कोई उतार-चढ़ाव नहीं देखा गया है.

आखिरी दफे पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़त दो महीने पहले 18 अक्टूबर तक हुई थी. तब से लेकर अब तक पेट्रोल 13.10 रुपए प्रति लीटर तक सस्ता हो चुका था. ऐसे में कहा जा सकता है कि जैसे ही पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के परिणाम घोषित हुए वैसे ही पेट्रोल-डीजल की कीमतों में भी बढ़ोत्तरी कर दी गई है.

भारत में पेट्रोल और डीजल की खुदरा बिक्री मूल्य रुपए-यूएस डॉलर विनिमय दर और बेंचमार्क ईंधनों की अंतरराष्ट्रीय कीमतों पर निर्भर करता है. भारत अपनी तेल जरूरतें आयात के जरिए पूरी करता है. इधर चुनाव के परिणाम आने के तुरंत बाद, रुपए के मूल्य में काफी गिरावट आई. रुपए का मूल्य 1 रुपए 10 पैसे गिर गया. वहीं सेंसेक्स में भी भारी गिरावट देखी गई.

चुनावों के दौरान हमेशा से दी जाती रही है पेट्रोल-डीजल की कीमतों में राहत

ये पहली बार नहीं था चुनावों के दौरान पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में राहत दी गईं और फिर परिणाम आने के बाद वापस बढ़ा दिया गया. कर्नाटक विधानसभा चुनाव के दौरान भी ये देखा गया था कि पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों को लगातार 20 दिन तक (24 अप्रैल से 14 मई 2018 तक) उतार-चढ़ाव से अलग रखा गया था. इसी तरह गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान भी 13 दिन तक (1 दिसंबर से 14 दिसंबर तक) पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों को बदलाव से अलग रखा गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi