S M L

पेट्रोल-डीजल के दामों में बेतहाशा बढ़ोतरी, अब तक की रिकॉर्ड ऊंचाई पर डीजल

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों की वजह अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की बढ़ती कीमत है.

FP Staff Updated On: Apr 20, 2018 01:37 PM IST

0
पेट्रोल-डीजल के दामों में बेतहाशा बढ़ोतरी, अब तक की रिकॉर्ड ऊंचाई पर डीजल

देश के कोने-कोने में पेट्रोल-डीजल की कीमतें बेतहाशा बढ़ रही हैं. लोगों ने केंद्र सरकार से इस पर फौरन रोक लगाने की गुहार लगाई है. इसके लिए बाकायदा कोई नीति बनाने की भी मांग उठ रही है. पेट्रोल की कीमतें पिछले चार साल में उच्च स्तर पर पहुंच गई हैं, जबकि डीजल के दाम अब तक के इतिहास में सबसे ज्यादा दर्ज हो रहे हैं.

एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम का असर सरकार को उठाना पड़ सकता है. जिन राज्यों में विधानसभा चुनाव हैं उनमें कर्नाटक को छोड़कर बाकी जगह बीजेपी की सरकार है. सरकारी सूत्रों से संकेत मिल रहे हैं कि पेट्रोल-डीजल को भी जीएसटी में लाया जा सकता है, ताकि कीमतों पर अंकुश लगाया जा सके. इसकी कोशिशें पहले से तेज हुई हैं.

डीजल-पेट्रोल की कीमतें रोज नए रिकॉर्ड बना रही हैं. राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 74 रुपए 8 पैसे प्रति लीटर मिल रहा है. पेट्रोल की यह दर सितंबर 2014 के बाद सबसे ज्यादा है. दूसरी ओर डीजल की कीमत दिल्ली में 65 रुपए 31 पैसे है. अब तक के इतिहास में डीजल इतना महंगा कभी नहीं हुआ.

7 फरवरी को डीजल 66 रुपए 22 पैसे प्रति लीटर तक पहुंच गया था. मुंबई के लोगों को पेट्रोल की कीमतें सबसे ज्यादा चुकानी पड़ रही हैं. यहां पेट्रोल के दाम 81 रुपए 93 पैसे प्रति लीटर पहुंच गए हैं. पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों की वजह अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की बढ़ती कीमत है.

हालांकि जनवरी में पेट्रोल की कीमतें 83 रुपए प्रति लीटर तक पहुंच गई थी. बाद में अंतराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें गिरने से इसकी कीमत कम भी हुई थी. हालिया बजट में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले उपकर में कमी का ऐलान किया था. जिसके बाद पेट्रो उत्पादों के दाम कुछ घटे थे लेकिन एक बार फिर अंतराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में आई वृद्धि से कीमतें फिर आसमान पर पहुंचने की संभावना है.

गुरुवार को अंतराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 75 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गया. जिसके बाद पेट्रोलियम पदार्थों के दामों में बढ़ोतरी तय माना जा रहा है. इसी वजह से अटकलें लगाई जा रही हैं कि शुक्रवार से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में फिर से वृद्धि होगी जिसका सीधा असर मंहगाई पर पड़ेगा.

शुरुआती अप्रैल में दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 73.83 रुपए और डीजल की कीमत 64.69 रुपए प्रति लीटर थी. देश के चारों मेट्रो सिटी दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में डीजल की कीमत सबसे ज्यादा दर्ज की गई थी.

पेट्रो पदार्थों के दामों में लगातार बढ़ोतरी को देखते हुए सरकार इसकी कीमतों को जीएसटी के दायरे में लाने की कोशिश में है. अगर ऐसा होता है तो कीमतों पर लगाम लगाया जा सकता है. फिलहाल पेट्रोल-डीजल की कीमत हर राज्य में अलग-अलग तय है. इसे वैट के तहत रखा गया है. जीएसटी के दायरे में पेट्रोल-डीजल की कीमत आ जाने के बाद इसमें समानता आने की संभावना है.

महानगरों में पेट्रोल की कीमत

दिल्ली- 74 .08 रुपए

कोलकाता- 76.78 रुपए

मुंबई- 81. 93 रुपए

चेन्नई- 76.85 रुपए

महानगरों में डीजल की कीमत

दिल्ली- 65.31 रुपए

कोलकाता- 68.01 रुपए

मुंबई- 69.54 रुपए

चेन्नई- 68.90 रुपए

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi