S M L

मुंबई: समुद्र के बीच हुई ONGC के निदेशक मंडल की बैठक

दूसरी तिमाही के नतीजे की मंजूरी देने के लिए बैठक कंपनी के अरब सागर में स्थित मुंबई हाई फील्ड के एक मंच पर रखी गई थी

Updated On: Oct 29, 2017 06:40 PM IST

Bhasha

0
मुंबई: समुद्र के बीच हुई ONGC के निदेशक मंडल की बैठक

सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी तेल और प्राकृतिक गैस निगम (ओएनजीसी) के निदेशक मंडल की बैठक मुंबई से दूर समुद्र में इसके परियोजना क्षेत्र में हुई. दूसरी तिमाही के नतीजे की मंजूरी देने के लिए शनिवार को यह बैठक कंपनी के अरब सागर में स्थित मुंबई हाई फील्ड के एक मंच पर रखी गई थी.

अधिकारियों के अनुसार ओएनजीसी के नए चेयरमैन शशि शंकर ने तिमाही नतीजे और अन्य चीजों की मंजूरी के लिए कंपनी के निदेशक मंडल की 299वीं बैठक कंपनी के तेल एवं गैस क्षेत्र मुंबई हाई क्षेत्र में बुलाई थी. एक अधिकारी ने कहा, ‘इसके पीछे विचार उन स्वतंत्र निदेशकों को अपतटीय क्षेत्र में अनूठे तेल और गैस खोज और उत्पादन कारोबार से अवगत करना था जो इससे अच्छी तरह वाकिफ नहीं है.’

ओएनजीसी अपना कुल तेल और गैस उत्पादन का 80 फीसदी से अधिक अपतटीय क्षेत्रों से करती है. इसमें महाराष्ट्र तट के पास स्थित मुंबई हाई सबसे बड़ा सोर्स है.

जुलाई-सितंबर तिमाही में ONGC का शुद्ध लाभ 5,131 करोड़ रुपए रहा

सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी ने कच्चे तेल का उत्पादन 2.26 करोड़ टन से बढ़ाकर 2021-22 तक 2.64 करोड़ टन पहुंचाने का लक्ष्य रखा है. वहीं गैस उत्पादन मौजूदा 6 करोड़ घन मीटर प्रतिदिन से बढ़ाकर 11 करोड़ घन मीटर प्रतिदिन करने की इसकी योजना है.

अधिकारी ने कहा कि सरकार ने इस महीने कंपनी में दो स्वतंत्र निदेशक बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा और गंगा मूर्ति नियुक्त किया है. साथ ही सरकार नामित निदेशक राजीव बंसल इस साल अगस्त में निदेशक मंडल में शामिल हुए. वह पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव और वित्तीय सलाहकार हैं.

सात स्वतंत्र निदेशकों में से ज्यादातर कुछ ही महीने पहले बोर्ड में शामिल हुए. ऐसे में बैठक का मकसद उन्हें कंपनी के कामकाज से अवगत कराना था. जुलाई-सितंबर तिमाही में कंपनी का शुद्ध लाभ 3.1 फीसदी बढ़कर 5,131 करोड़ रुपए रहा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi