S M L

NPA की वजह रेट कट का लाभ कस्टमर्स को नहीं मिला: RBI

रिजर्व बैंक लंबे समय से इस बात की शिकायत कर रहा है कि बैंक मौद्रिक समीक्षा (मॉनीटरी पॉलिसी रिव्यू) में नीतिगत दरों में कटौती का लाभ उपभोक्ताओं तक नहीं पहुंचा रहे हैं

Updated On: Apr 06, 2018 03:50 PM IST

Bhasha

0
NPA की वजह रेट कट का लाभ कस्टमर्स को नहीं मिला: RBI

भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा कि नोटबंदी के बाद बैंकों की जमा में वृद्धि हुई थी जिसका लाभ ग्राहकों को ब्याज दरों में कटौती के रूप में मिला था लेकिन बढ़ते फंसे कर्ज (एनपीए) की वजह से बैंक नीतिगत ब्याज दरों में कटौती का लाभ जनता तक नहीं पहुंचा पाए हैं.

उल्लेखनीय है कि रिजर्व बैंक लंबे समय से इस बात की शिकायत कर रहा है कि बैंक मौद्रिक समीक्षा (मॉनीटरी पॉलिसी रिव्यू) में नीतिगत दरों में कटौती का लाभ उपभोक्ताओं तक नहीं पहुंचा रहे हैं.

जनवरी, 2015 से केंद्रीय बैंक ने नीतिगत दरों में कटौती शुरू की थी. उस समय से ही केंद्रीय बैंक कह रहा है कि मौद्रिक समीक्षा का लाभ ग्राहकों को स्थानांतरित नहीं किया जा रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi