S M L

सरकार जल्द लाएगी पेट्रोल में मेथनॉल मिलाने की नीति: नितिन गडकरी

गडकरी ने कहा, 'मैं संसद के अगले सत्र में पेट्रोल में 15 फीसदी मेथनॉल का मिश्रण करने पर नीति की घोषणा करूंगा. इससे पेट्रोल सस्ता होगा और प्रदूषण में भी कमी आएगी.'

Updated On: Dec 10, 2017 03:55 PM IST

Bhasha

0
सरकार जल्द लाएगी पेट्रोल में मेथनॉल मिलाने की नीति: नितिन गडकरी

आने वाले दिनों में देश में पेट्रोल सस्ता हो सकता है. केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने इस बात के संकेत दिए हैं. नितिन गडकरी ने कहा है कि सरकार जल्दी ही पेट्रोल में 15 फीसदी मेथनॉल के मिश्रण पर नीति की घोषणा करेगी.

शनिवार को मुंबई में मनी कंट्रोल और फ्री प्रेस जर्नल की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम में गडकरी ने कहा कि इससे पेट्रोल सस्ता होगा साथ ही प्रदूषण में भी कमी आएगी. उन्होंने कहा कि 'मैं संसद के अगले सत्र में पेट्रोल में 15 फीसदी मेथनॉल का मिश्रण करने पर नीति की घोषणा करूंगा.'

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मेथनॉल कोयला से तैयार किया जाता है. पेट्रोल की वर्तमान कीमत लगभग 80 रुपए प्रति लीटर के मुकाबले इस पर मात्र 22 रुपए प्रति लीटर का खर्च आता है. उन्होंने कहा कि चीन में कोयला का बाई प्रोडक्ट 17 रुपए प्रति लीटर तैयार होता है. उन्होंने कहा, 'इससे खर्च घटेगा और प्रदूषण भी घटेगा.'

petrol

गडकरी ने कहा कि मुंबई और इसके आसपास दीपक फर्टिलाइजर्स और राष्ट्रीय केमिकल्स एंड फर्टिलाइजर्स (आरसीएफ) मेथनॉल तैयार कर सकते हैं.

उन्होंने कहा कि स्वीडन की ऑटोमोबाइल कंपनी वोल्वो यहां मेथनॉल से चलने वाले विशेष इंजन लेकर आई है. इसमें स्थानीय उपलब्ध मेथनॉल का इस्तेमाल होता है. इस ईधन पर आधारित 25 बसों को मुंबई में चलाने का प्रयास किया जाएगा.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इथेनॉल को भी व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जा सकता है. गडकरी ने कहा कि उन्होंने पेट्रोलियम मंत्रालय का कार्यभार संभाल रहे अपने सहयोगी मंत्री को पेट्रोल रिफाइनरी निर्माण करने की बजाए इस पर ध्यान देने को कहा है. रिफाइनरी पर 70 हजार करोड़ रुपए की लागत आती है. जबकि अकेले इथेनॉल पर कुल लागत डेढ़ लाख करोड़ रुपए आता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi