S M L

जानिए क्यों की जाती है मुहूर्त ट्रेडिंग और शेयर बाजार में क्या है इसका महत्व

भारतीय शेयर बाजार में भी दीपावली का काफी महत्व है और दिवाली के दिन विशेष रूप से मुहूर्त ट्रेडिंग की परंपरा है.

Updated On: Nov 07, 2018 03:31 PM IST

FP Staff

0
जानिए क्यों की जाती है मुहूर्त ट्रेडिंग और शेयर बाजार में क्या है इसका महत्व

त्योहार के इस मौसम में हर कोई सुख-समृद्धि की कामना करता है. साथ ही दिवाली के त्योहार पर मां लक्ष्मी की पूजा की जाती है और मां लक्ष्मी धन का प्रतीक है. ऐसे में भारतीय शेयर बाजार में भी दीपावली का काफी महत्व है और दिवाली के दिन विशेष रूप से मुहूर्त ट्रेडिंग की परंपरा है. आइए जानते हैं इसके बारे में...

दरअसल, मुहूर्त ट्रेडिंग की परंपरा करीब सौ साल से भी ज्यादा पुरानी मानी जाती है. कारोबारियों का इस परंपरा में काफी श्रद्धा और विश्वास माना जाता है. दिवाली के दिन को भारतीय कारोबारी नए साल के रूप में भी मनाते हैं. दिवाली की पहचान नए वर्ष या नव संवत के रूप में भी है.

मान्यता है कि इस दिन किसी काम की शुरुआत करने का सबसे बढ़िया समय होता है. कारोबारी या व्यापारी गतिविधि की शुरुआत के लिए ये समय अच्छा माना जाता है. इसलिए शेयर बाजार में मुहूर्त ट्रेडिंग की प्रथा चली आ रही है. कारोबारी में बढ़वा हो और धन का अगमन हो इसलिए इसका महत्व भारतीय शेयर बाजार में देखा जाता है.

इस साल शेयर बाजार में 7 नवंबर को दीपावली के दिन 90 मिनट तक मुहूर्त ट्रेडिंग होगी. बीएसई और एनएसई में शाम पांच बजे से इसकी शुरुआत होगी और आम निवेशक साढ़े पांच बजे से साढ़े छह बजे के बीच शेयरों की खरीद-फरोख्त कर सकेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi