S M L

वाइब्रेंट गुजरात शिखर सम्मेलन: देश के पहले सीएनजी टर्मिनल को विकसित करने के लिए MoU पर हस्ताक्षर

समूह ने सीएनजी टर्मिनल के विकास के लिए राज्य में विभिन्न संभावित परियोजना स्थलों की खोज शुरू कर दी है.

Updated On: Jan 20, 2019 10:26 PM IST

FP Staff

0
वाइब्रेंट गुजरात शिखर सम्मेलन: देश के पहले सीएनजी टर्मिनल को विकसित करने के लिए MoU पर हस्ताक्षर

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि इस साल के वाइब्रेंट गुजरात शिखर सम्मेलन के दौरान 28360 समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए. उन्होंने कहा कि इन समझौतों से 21 लाख से अधिक रोजगार के सृजन की संभावना है. हालांकि रूपाणी ने यह साफ स्पष्ट नहीं किया कि इन एमओयू के जरिए राज्य को कितनी राशि का निवेश हासिल हुआ. वहीं इस सम्मेलन में फोरसाइट ग्रुप इंटरनेशनल ने भी शिरकत की. इस ग्रुप ने भारत के पहले कम्प्रेस्ड नेचुरल गैस (CNG) टर्मिनल को विकसित करने के लिए गुजरात मैरीटाइम बोर्ड के साथ MoU पर हस्ताक्षर किया है.

तीन दिनों तक चले वाइब्रेंट गुजरात वैश्विक शिखर सम्मेलन 2019 का समापन हो चुका है. वहीं फोरसाइट ग्रुप इंटरनेशनल की CNG टर्मिनल को विकसित करने के MoU की खास बात ये है कि इसके तहत गुजरात तट के साथ सीएनजी टर्मिनल के विकास पर ध्यान दिया जाएगा. CNG टर्मिनल इन्फ्रास्ट्रक्चर और CNG वेसल्स के विकास के लिए 1000 करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा.

फोरसाइट ग्रुप इंटरनेशनल यूके आधारित प्रसिद्ध शिपिंग और ड्रिलिंग समूह है. जिसने गुजरात तट के साथ भारत के पहले सीएनजी टर्मिनल के विकास के लिए वाइब्रेंट गुजरात समिट-2019 के पहले दिन गुजरात मैरीटाइम बोर्ड (GMB) के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया है. समझौता ज्ञापन का मुख्य उद्देश्य गुजरात तट के माध्यम से भारत के लिए सीएनजी अवसंरचना सुविधाएं प्राप्त करना होगा. कंपनी की योजना सीएनजी टर्मिनल इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए 300 करोड़ रुपए और सीएनजी वेसल्स के लिए 700 करोड़ रुपए का निवेश करने की है. वहीं समूह ने सीएनजी टर्मिनल के विकास के लिए राज्य में विभिन्न संभावित परियोजना स्थलों की खोज शुरू कर दी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi