S M L

देश में 60,000 से अधिक पेट्रोल पंप, छह साल में 45 प्रतिशत हुई वृद्धि

आंकड़ों के अनुसार देश में अक्टूबर के अंत में 60,799 पेट्रोल पंप हैं और इस मामले में भारत केवल अमेरिका तथा चीन से ही पीछे है.

Updated On: Nov 29, 2017 09:25 PM IST

Bhasha

0
देश में 60,000 से अधिक पेट्रोल पंप, छह साल में 45 प्रतिशत हुई वृद्धि

देश में पिछले छह साल में पेट्रोल पंपों की संख्या में 45 प्रतिशत का उछाल आया है. संभवत: यह दुनिया में सर्वाधिक वृद्धि है. सार्वजनिक क्षेत्र के साथ-साथ निजी क्षेत्र की कंपनियां खुदरा बिक्री को लेकर होड़ में आगे आई हैं.

पेट्रोलियम मंत्रालय के पेट्रोलियम योजना एवं विश्लेषण प्रकोष्ठ से उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार देश में अक्टूबर के अंत में 60,799 पेट्रोल पंप हैं और इस मामले में भारत केवल अमेरिका तथा चीन से ही पीछे है.

वर्ष 2011 में देश में 41,947 पेट्रोल पंप थे जिसमें से 7.1 प्रतिशत (2,983) रिलायंस इंडस्ट्रीज तथा एस्सार ऑयल जैसी निजी कंपनियां चला रही थी.

आंकड़े के अनुसार आज 5,474 या 9 प्रतिशत का परिचालन निजी कंपनियां कर रही हैं. इसमें एस्सार 3,980 पेट्रोल पंपों का परिचालन कर रही हैं. अमेरिका तथा चीन में एक-एक लाख पेट्रोल पंप हैं.

दुनिया के कई देशों में पेट्रोल पंपों की संख्या कम हुई है क्योंकि उन्होंने इलेक्ट्रिक वाहन तथा ऊर्जा के वैकल्पिक स्रोत का उपयोग करना शुरू किया है. वहीं दूसरी तरफ भारत में यह बढ़ी है जो दुनिया का तेजी से बढ़ता तेल ग्राहक है.

भारत 2015 में जापान को पीछे छोड़ते हुए अमेरिका तथा चीन के बाद तीसरा सबसे बड़ा तेल उपभोक्ता देश बन गया है. चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-अक्टूबर के दौरान ईंधन खपत में 9.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई.

पेट्रोलियम मंत्रालय के आंकड़े के अनुसार 2011 से 2017 के बीच 18,852 पेट्रोल पंप जोड़े गए. कुल 60,799 पेट्रोल पंपों में से 55,325 सार्वजनिक क्षेत्र की खुदरा ईंधन कंपनियों के हैं.

इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन 26,489 पेट्रोल पंपों का परिचालन कर रही है जबकि हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लि. (एचपीसीएल) 14,675 पेट्रोल पंपों का परिचालन कर रही है। वहीं भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन के पेट्रोल पंपों की संख्या 14,161 है.

निजी क्षेत्र में रिलायंस इंडस्ट्रीज के 1,400 तथा रायल डच शेल के 90 पेट्रोल पंप हैं. आंकड़े के अनुसार 1,273 सीएनजी स्टेशन हैं. इसमें सर्वाधिक 423 दिल्ली में हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi