S M L

तेल की बढ़ती कीमतों के बीच मूडिज ने घटाई भारत की वृद्धि दर

मूडीज ने 2018 के लिए भारत की जीडीपी की वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत तय की थी जिसे कम कर के 7.3 प्रतिशत कर दिया गया है

FP Staff Updated On: May 30, 2018 03:52 PM IST

0
तेल की बढ़ती कीमतों के बीच मूडिज ने घटाई भारत की वृद्धि दर

मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने बुधवार को एक रिपोर्ट पेश की. रिपोर्ट में मूडीज ने तेल की बढ़ती कीमतों और कड़े वित्तीय स्थितियों के कारण भारत की जीडीपी के पूर्वानुमान में कटौती कर दी है. मूडीज ने 2018 के लिए भारत की जीडीपी की वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत तय की थी जिसे कम कर के 7.3 प्रतिशत कर दिया गया है.

मूडीज ने कहा है कि भारत की अर्थव्यवस्था अभी निवेश और खपत के साथ क्लिनिकल रिकवरी के दौर में है. हालांकि, तेल की बढ़ती कीमत और कड़ी वित्तीय स्थितियों का असर वृद्धि दर पर पड़ेगा. रिपोर्ट में कहा गया है कि हम 2018 में जीडीपी की वृद्धि दर 7.3% रहने की उम्मीद करते हैं. हमने पिछले पूर्वानुमान 7.5% को कम कर दिया है. हालांकि मूडीज ने 2019 के लिए अपने पूर्वानुमान में कोई बदलाव नहीं किया है और वह 7.5% पर बरकरार है.

मूडीज ने आगे कहा है कि एमएसपी और सामान्य मॉनसून के कारण ग्रामीण खपत से घरेलू मोर्चे पर विकास दर को लाभ मिलेगा. निजी निवेश में तेजी से वसूली जारी रहेगी, क्योंकि ट्विन बैलेंस शीट, बैंकों और उद्योगपतियों की खराब संपत्तियों को इंसॉलवेंसी एंड बैंकरप्सी कोड के तहत धीरे धीरे हटाया जाएगा.

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि जीएसटी के आने से भी वृद्धि दर पर असर पड़ रहा है. इसका असर अगले कुछ तिमाही तक रहेगा. हालांकि हम उम्मीद करते हैं कि साल के अंत तक यह सब सही हो जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi