S M L

तीन बैंकों के विलय से ग्राहकों पर यह पड़ेगा असर

विलय की प्रकिया से ग्राहकों के अकाउंट में जमा पैसों पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा. हालांकि इस प्रकिया से पेपरवर्क थोड़ा बढ़ जाएगा

Updated On: Sep 19, 2018 09:59 PM IST

FP Staff

0
तीन बैंकों के विलय से ग्राहकों पर यह पड़ेगा असर

बैंकिंग व्यवस्था को दुरुस्त करने का हवाला देते हुए सरकार ने हालही में तीन बैंकों के विलय की घोषणा की थी. यह तीन बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, देना बैंक और विजया बैंक हैं. सरकार का कहना है कि इन तीन बैंकों के विलय से एक बहुत बड़ा बैंक व्यवस्था में आएगा जोकि देश का तीसरा सबसे बड़ा बैंक होगा.

इस मामले पर वित्त मंत्री अरुण जेटली का कहना है कि विलय होने से बैंकिंग व्यवस्था मजबूत होगी और उनकी कर्ज देने की क्षमता भी बढ़ जाएगी. यह निर्णय बैंकों की कर्ज देने की ताकत और आर्थिक वृद्धियों को गति देने के सरकार के प्रयासों का हिस्सा है. भले ही सरकार कह रही हो कि ऐसा करने से कई समस्याओं का समाधान हो जाएगा लेकिन इस राह में चुनौतियां भी कम नहीं हैं.

एटीएम और ब्रांचें बढ़ेंगी, आएगी नई टेक्नालॉजी

विशेषज्ञों का कहना है कि विलय से ब्रांचों और एटीएम की संख्या बढ़ जाएगी. इससे ग्राहकों को दूर नहीं जाना पड़ेगा. इसका लाभ ग्राहकों को भी मिलेगा. इसके अलावा तीनों बैंकों के विलय से नई तकनीकें आएंगी, इससे ग्राहकों को लाइन में नहीं खड़ा होना होगा.

एफडी पर पड़ेगा असर, एटीएम और चेकबुक पर बदल सकता है बैंक का नाम

जानकारों का कहना है कि एफडी पर तीनों बैंकों की ब्याज दर अलग अलग है. इसलिए अनुमान है कि नए ग्राहकों के लिए ब्याज दर अलग हो सकती है. इसके अलावा ग्राहकों की चेकबुक, एटीएम आदि पर बैंक का नाम बदल सकता है.

एटीएम, पासबुक और पैसा सब रहेगा सुरक्षित

विलय की प्रकिया से ग्राहकों के अकाउंट में जमा पैसों पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा. हालांकि इस प्रकिया से पेपरवर्क थोड़ा बढ़ जाएगा. केवाईसी प्रकिया दोबारा हो सकती है और एटीएम, पासबुक अपडेट हो सकती है.

बैंकिग में होगा सुधार, लोन की ब्याज दर पर नहीं पड़ेगा असर

एनपीए बैंकों की सबसे बड़ी समस्या है. विलय होने से इस समस्या के समाधान के लिए प्रयास किए जाएंगे. इसके अलावा जिन लोगों ने लोन लिया है उनके ब्याज पर विलय का कोई असर नहीं होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi