S M L

फ्यूल फिल्टर में गड़बड़ी के चलते मारुति को रिकॉल करनी पड़ी 5900 Super Carry

कंपनी 26 अप्रैल, 2018 से एक अगस्त के बीच बने 5900 सुपर कैरी वाहनों के फ्यूल फिल्टर में संभावित खराबी की जांच करेगी

Updated On: Dec 26, 2018 07:44 PM IST

FP Staff

0
फ्यूल फिल्टर में गड़बड़ी के चलते मारुति को रिकॉल करनी पड़ी 5900 Super Carry

देश की सबसे बड़ी कार प्रोडक्शन कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया को अपने लाइट कमर्शियल व्हीकल सुपर कैरी की 5,900 यूनिट्स को वापस मंगाना पड़ा रहा है.

दरअसल, इन वाहनों के फ्यूल फिल्टर में गड़बड़ी है, जिसे कंपनी बदलेगी. मनी कंट्रोल की खबर के मुताबिक,  मारुति ने शेयर बाजार को सूचना देते हुए कहा कि कंपनी 26 अप्रैल, 2018 से एक अगस्त के बीच बने 5900 सुपर कैरी वाहनों के फ्यूल फिल्टर में संभावित खराबी की जांच करेगी.

रशलेन की खबर के मुताबिक, 26 दिसंबर यानी आज से मारुति सुजुकी के कॉमर्शियल डीलर्स व्हीकल ओनर्स से संपर्क करके फ्यूल फिल्टर के जांच और पार्ट को मुफ्त में बदलने की जानकारी देना शुरू करेंगे.

कंपनी ने कहा कि मारुति के डीलर बुधवार से वाहनों के मालिकों से संपर्क करना शुरू कर देंगे और वाहनों की जांच कर खराब हिस्से को मुफ्त में बदला जाएगा. इससे पहले, मारुति ने अक्टूबर में फ्यूल पंप में खराबी को ठीक करने के लिए 640 सुपर कैरी वाहन वापस मंगाए थे. तब 20 जनवरी से 14 जुलाई, 2018 के बीच बने वाहनों को वापस बुलाया गया था.

ग्राहक भी अपने वाहन की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं कि उनके वाहन को जांच की जरूरत है या नहीं. वेबसाइट पर कस्टमर इन्फो टैब पर क्लिक कर वाहन का चेसिस नंबर डालना होगा. इसके बाद आपको यह जानकारी मिल सकती है.

मारुति के इस रिकॉल से एक्सपोर्ट किए गए मॉडल पर भी प्रभाव पड़ सकता है. कंपनी दक्षिण अफ्रीका और तंजानिया में इन वाहनों का एक्सपोर्ट करती है. सुपर कैरी की मैन्यूफैक्चरिंग कंपनी के गुरुग्राम के प्लांट पर होती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi