S M L

मैरेज टूरिज्म क्या है? आप जानिए और पैसे बनाइए

अगर आप भी शादी करने वाले हैं तो मैरेज टूरिज्म का फायदा उठाइए और अपनी शादी में आने वालों के लिए टिकट लगाइए

Updated On: Oct 21, 2018 08:38 PM IST

FP Staff

0
मैरेज टूरिज्म क्या है? आप जानिए और पैसे बनाइए
Loading...

रणवीर और दीपिका पादुकोण की शादी तय हो गई है. शादी 14-15 नवंबर को है. हो सकता है इन सितारों की शादी में क्या आप भी जाना चाहते हों. अगर आपको ये ऑफर दिया जाए कि आप भी उनकी शादी में शामिल हो सकते हैं.. बस एक छोटी सी कीमत चुकानी होगी. मुमकिन है कि जिनकी जेब मोटी हो वो इसपर मान जाए. टूरिज्म में यह एक नया ट्रेंड शुरू हुआ है. इसे मैरेज टूरिज्म कहा जा रहा है.

विदेशियों में भारतीय परंपराओं और रीति रिवाजों को लेकर हमेशा से ही दिलचस्पी रही है लेकिन उन्हें नजदीक से देखने का मौका कम ही मिल पाता है. ये परंपराएं उनके लिए किसी जादू के पिटारे से कम नहीं हैं. विदेशियों की इसी दिलचस्पी को भुनाने के लिए भारत में मैरेज टूरिज्म शुरू हुआ है.

सीएनबीसी के मुताबकि, दिल्ली की फंड मैनेजर सुरभि चौहान की पिछले नवंबर मे शादी हुई. इस शादी में उनके अपने मेहमानों के साथ 2 विदेशी भी थे. कार्ली स्टीवंस और टिम गोवर को सुरभि पहले से नहीं जानती थीं. ये ऑस्ट्रेलियाई ब्लॉगर थे और इस शादी में शामिल होने के लिए उन्होंने 200 डॉलर चुकाए थे. इसमें वो दो दिनों के समारोह का हिस्सा बने.

इसमें कारोबारी मौका ढूंढने वाले स्टार्टअप का नाम 'ज्वाइन माय वेडिंग' है. इसके बारे में सुरभि चौहान ने बताया कि वेडिंग वेन्यू बुक करने के दौरान उन्हें ऐसे स्टार्टअप की जानकारी मिली थी. चौहान ने कहा, 'यह कॉन्सेप्ट एकदम नया था.'

'ज्वाइन माय वेडिंग' की फाउंडर ओरसी पार्कानयी ने स्टीवंस और गोवर को सूरभि और उनके पति से मिलवाया था. चौहान ने बताया, 'हम बात कर रहे थे और यह बता रहे थे कि हम किस फंक्शन में क्या करते हैं.'

कैसे काम करता है टूरिज्म बिजनेस?

'ज्वाइन माय वेडिंग' वेबसाइट पर कपल अपनी डिटेल डालते हैं. इंटरनेशनल ट्रैवलर्स भी उस वेबसाइट पर आते हैं. अगर उन्हें किसी जोड़े का डेस्टिनेशन और प्रपोजल आकर्षक लगता है तो वो शादी में शामिल होने का टिकट खरीदते हैं. इस टिकट का ज्यादा हिस्सा कपल को मिलता है और स्टार्टअप अपना कमीशन लेता है.

पार्कनयी ने कहा, 'शादी से ज्यादा रीति रिवाज कहीं नजर नहीं आते. शादियों में स्थानीय खाना, स्थानीय लोग, रीति-रिवाज, कपड़े और संगीत...सबकुछ होता है.' उनका कहना है कि अब तक सैलानी 100 से ज्यादा शादियों में शामिल हो चुके हैं.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi