S M L

कॉल टर्मिनेट चार्ज डबल करना चाहती हैं टेलीकॉम कंपनियां

फिलहाल प्रत्येक इनकमिंग कॉल पर 14 पैसे प्रति मिनट का आईयूसी लगता है

Bhasha Updated On: Jul 18, 2017 08:35 PM IST

0
कॉल टर्मिनेट चार्ज डबल करना चाहती हैं टेलीकॉम कंपनियां

भारती एयरटेल आइडिया जैसी टेलीकॉम कंपनियों ने इंटरकनेक्शन यूज चार्जेज (आईयूसी) बढ़ाकर दोगुना करने की मांग की है. यह चार्ज बढ़ने के बाद मोबाइल बिल महंगा हो जाएगा.

एयरटेल और आइडिया का कहना है कि उनके नेटवर्क पर दूसरे नेटवर्क से आने वाली कॉल्स को पूरा कराने की लागत 30 पैसे प्रति मिनट बैठती है. वहीं, वोडाफोन का कहना है कि उसके नेटवर्क आईयूसी 24 पैसे प्रति मिनट बैठती हैं.

क्या है कंपनियों की मांग?

दूरसंचार कंपनियों के अधिकारियों ने आईयूसी पर कॉल टर्मिनेशन चार्ज बढ़ाने की मांग दोहराई है. एक अधिकारी ने कहा, 'एयरटेल ने कहा है कि इनकमिंग कॉल को पूरा करने की लागत 30 पैसे बैठती है, ऐसे में आईयूसी बढ़ाया जाना चाहिए ताकि वे अपनी लागत निकाल सकें.'

दूरसंचार ऑपरेटरों को अन्य ऑपरेटर के नेटवर्क से हर इनकमिंग कॉल पर इंटरकनेक्शन शुल्क मिलता है. यह चार्ज मोबाइल ग्राहकों से वसूला जाता है.

क्या है मौजूदा चार्ज?

फिलहाल प्रत्येक इनकमिंग कॉल पर 14 पैसे प्रति मिनट का आईयूसी लगता है. एक अधिकारी ने बताया कि वोडाफोन ने कहा है कि उसे अपने नेटवर्क पर इनकमिंग कॉल को पूरा करने की लागत 30 पैसे बैठती है. इसमें लाइसेंस शुल्क शामिल नहीं है. लाइसेंस शुल्क को शामिल करने के बाद यह 34 पैसे प्रति मिनट बैठती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi