S M L

स्पाइसजेट के खिलाफ कलानिधि मारन ने 1,323 करोड़ रुपए हर्जाने का दावा हारा

ट्राइब्यूनल ने मारन को हर्जाने का ब्याज चुकाने को कहा है जबकि स्पाइसजेट के मालिक अजय सिंह को आदेश दिया कि वह मारन का 579 करोड़ रुपए रिफंड करे

Updated On: Jul 22, 2018 10:27 PM IST

FP Staff

0
स्पाइसजेट के खिलाफ कलानिधि मारन ने 1,323 करोड़ रुपए हर्जाने का दावा हारा

स्पाइसजेट के शेयर ट्रांसफर को लेकर चल रहे विवाद में कलानिधि मारन को ट्राइब्यूनल से तगड़ा झटका लगा है. मारन और उनकी कंपनी KLL एयरवेज 1323 करोड़ रुपए हर्जाना और स्पाइसजेट में नियंत्रण लायक हिस्सेदारी की डिमांड कर रहे थे. ट्राइब्यूनल ने अपने फैसले में मारन की यह मांग मानने से इनकार कर दिया.

स्पाइसजेट ने स्टॉक मार्केट को बताया कि ट्राइब्यूनल ने मारन और उनकी कंपनी का यह दावा पूरी तरह खारिज कर दिया कि स्पाइस जेट के कंवर्टिबल वारंट और प्रीफरेंशियल शेयर जारी नहीं होने से उसे नुकसान हुआ है और इसकी भरपाई के लिए 1,323 करोड़ रुपए का हर्जाना दिया जाए.

क्या है मामला?

यह मामला जनवरी 2015 से चला आ रहा है. स्पाइसजेट के फाउंडर अजय सिंह ने करीब-करीब डूब चुकी इस एयरलाइन की कमान दोबारा संभाली थी. ट्राइब्यूनल में इस मामले की सुनवाई तीन रिटायर्ड जज अरिजीत पसायत, हेमंत लक्ष्मण गोखले और केएसपी राधाकृष्णन ने की थी.

ट्राइब्यूनल ने मारन को निर्देश दिया है कि हर्जाने के ब्याज के तौर पर वह अजय सिंह और स्पाइसजेट को 29 करोड़ रुपए का भुगतान करें. साथ ही सिंह को निर्देश है कि वे मारन की तरफ से जमा कराए 579 करोड़ रुपये ब्याज सहित उन्हें रिफंड करे. दिल्ली हाई कोर्ट के आदेश पर 2016 के अंत में शेयर हस्तांतरण विवाद का फैसला करने के लिये इस ट्राइब्यूनल का गठन किया गया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi