S M L

वॉट्सएप मामले में सूचनाएं कंपनियों से ही हुईं लीक, होगी कार्रवाईः सेबी

नियामक ने कहा कि शुरुआती जांच में यह साफ हो गया है कि बैंक की प्रक्रियाओं में खामी की वजह से ये सूचनाएं लीक हुई हैं

Updated On: Dec 28, 2017 07:02 PM IST

Bhasha

0
वॉट्सएप मामले में सूचनाएं कंपनियों से ही हुईं लीक, होगी कार्रवाईः सेबी

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने महत्वपूर्ण वित्तीय जानकारियों को लीक करने वाली कंपनियों को कड़ी चेतावनी दी है. नियामक ने चेताया है कि इस मामले में ऑडिटर और अन्य सभी जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई होगी. जरूरत होने पर नियमों को सख्त किया जाएगा.

निदेशक मंडल की बैठक के बाद संवाददाताओं से बातचीत में सेबी के चेयरमैन अजय त्यागी ने कहा कि हाल में वॉट्सएप में सूचनाओं के लीक होने के मामले में यह स्पष्ट हो गया है कि ये सूचनाएं कंपनियों से ही लीक हुई हैं.

एक दिन पहले ही सेबी ने एक्सिस बैंक से अपनी प्रणाली को मजबूत करने और आंतरिक जांच कर जिम्मेदारी तय करने को कहा था. नियामक ने कहा कि शुरुआती जांच में यह साफ हो गया है कि बैंक की प्रक्रियाओं में खामी की वजह से ये सूचनाएं लीक हुई हैं. त्यागी ने कहा कि इस तरह की और कंपनियां हैं. इस बारे में आवश्यक कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि जरूरत होने पर नियामक भेदिया कारोबार नियमों में संशोधन करेगा और उन्हें मजबूत करेगा.

ऑडिटर पाए गए दोषी तो उनपर भी होगी कार्रवाई

यह पूछे जाने पर क्या ऑडिटर भी भेदिया हैं और सूचनाएं सार्वजनिक होने से पहले उन्हें इसकी जानकारी होती है, त्यागी ने कहा कि यदि वे दोषी पाए जाते हैं तो उनपर भी कार्रवाई होगी.

नियामक ने कहा कि एक्सिस बैंक को जांच तीन महीने में पूरा करना होगा. उसके सात दिन के भीतर रिपोर्ट सेबी को देनी होगी. जांच में यह तथ्य सामने आया है कि अप्रैल-जून, 2017 की तिमाही के एक्सिस बैंक के वित्तीय नतीजे आधिकारिक घोषणा से पहले वॉट्सएप पर लीक सूचना से या तो पूरी तरह मिलते जुलते हैं या उसके बेहद करीब हैं. सेबी ने इस बारे में जांच पिछले महीने मीडिया रिपोर्ट के बाद शुरू की थी.

बैंक की तिमाही रिपोर्ट हो गई थी लीक

मीडिया में इस तरह की खबरें आई थीं कि विभिन्न वॉट्सएप ग्रुप पर कुछ कंपनियों के यूपीएसआई प्रसार में हैं. हालांकि, अभी इन सूचनाओं को सार्वजनिक नहीं किया गया है. इनमें एक्सिस बैंक भी शामिल था. नियामक ने इस बारे में कई बाजार इकाइयों के परिसरों सहित विभिन्न स्थानों पर छापेमारी और जब्ती की कार्रवाई भी की थी. इस बारे में सेबी ने सबसे पहले एक्सिस बैंक को निर्देश दिया है. कई अन्य मामलों में भी जल्द निर्देश दिए जा सकते हैं.

शुरुआती जांच में यह तथ्य सामने आया था कि वॉट्सएप ग्रुप पर जो संदेश प्रसारित हो रहा है वह एक्सिस बैंक के जून तिमाही के नतीजों से मिलता जुलता है. एक्सिस बैंक के तिमाही नतीजों की घोषणा 25 जुलाई को शाम 4:23 बजे हुई थी, जबकि यह संदेश 25 जुलाई को सुबह 9:12 बजे से ही चल रहा था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi